डिपुओं में कहीं दालें नहीं, कहीं तेल खत्म

हमीरपुर – सस्ते राशन की दुकानों से कहीं दालें, तो कहीं तेल गायब है। इसके अलावा आटा व चावल के कोटे में भी आधा किलो की कटौती पहले से ही कर दी गई है। ऐसे में राशन कार्डधारकों की दिक्कतें बढ़ गई हैं। इतने कम राशन में कैसे परिवार का खर्च चलेगा, यही चिंता उन्हें सताए जा रही है। राशन कार्डधारकों को एक बार फिर बाजार से महंगे दामों पर राशन खरीदना होगा। बता दें कि हमीरपुर जिला के 1.36 लाख राशन कार्डधारकों को मई के राशन में दो दालें ही मिल पाएंगी, क्योंकि अधिकतर डिपुओं में मूंग व मल्का मसर की दालें नहीं पहुंच पाई हैं। इसके अलावा सरसों के तेल की सप्लाई भी गोदामों में देरी से पहुंची है। ऐसे में अधिकतर राशन कार्डधारकों को इस माह तेल से भी वंचित रहना पड़ेगा। हालांकि गोदामों में दालों व तेल की सप्लाई देरी से पहुंच रही है। अधिकतर डिपोधारकों ने गोदामों से राशन उठा लिया है, ताकि उपभोक्ताओं को समय पर राशन दिया जा सके। विभाग ने सभी डिपोधारकों को हर माह की दस तारीख से पहले राशन उठाने के निर्देश दिए हैं, ताकि राशन कार्डधारकों को समय पर राशन बांटा जा सके। डिपुओं में आटा व चावल के कोटे में भी आधा किलो की कटौती पहले से ही कर रखी है। राशन कार्डधारकों को आटा साढ़े 12 किलो और चावल साढ़े पांच किलो के हिसाब से दिए जाएंगे। राशन कार्डधारक भी आधा-अधूरा राशन मिलने से खासा परेशान हैं। उन्हें एक बार फिर बाजार से महंगे दामों पर राशन खरीदकर रसोई घर का खर्च चलाना होगा।  बहरहाल, डिपुओं में लोग कहीं बार-बार दालों के लिए चक्कर लगाने को मजबूर हैं, तो वहीं तड़के के लिए तेल भी बाजार से खरीदने को मजबूर हैं।

You might also like