डीसी आफिस के बाहर जेबीटी का प्रदर्शन

कुल्लू में हक के लिए रैली निकाल प्रशिक्षुओं ने लगाए नारे,मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

कुल्लू—जेबीटी बेरोजगार प्रशिक्षु संघ कुल्लू ने जेबीटी कमीशन में एनसीटीई की अधिसूचना के अनुसार बीएड को शामिल न करने के विरोध में रोष रैली निकाली। रैली में 300 से अधिक प्रशिक्षुओं ने भाग लिया। संघ का कहना है कि एनसीटीई की 28 जून 2018 की अधिसूचना के अंतर्गत 50 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातक तथा शिक्षा स्नातक बीएड को जेबीटी के पदों पर नियुक्त के निर्णय व हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय में कुछ बीएड अभ्यार्थियों  की याचिका को अस्थायी रूप से जेबीटी के आवेदन करने का विरोध करता है। संघ ने मुख्यमंत्री से निर्णय लेने से पहले विशेष मांगों पर गौर लेने का आग्रह किया। एक जेबीटी प्रशिक्षु द्वारा प्राथमिक स्तर पर सभी विषयों को पढ़ाने का प्रशिक्षण दिया जाता है, वहीं दूसरी ओर बीएड प्रशिक्षु द्वारा किसी दो विषय को पढ़ाया जाता है। जेबीटी बेरोजगार प्रशिक्षुओं के अन्याय किया जा रहा है। यह बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उपायुक्त के माध्यम से संघ ने मुख्यमंत्री को मांग पत्र भेजा। कुल्लू में कालेज गेट से लेकर उपायुक्त कार्यालय तक रोष रैली निकाली। ज्ञापन में मांग को मनवाने का आग्रह किया है। वहीं चेतावनी दी है कि मांग पूरी नहीं हुई तो आंदोलन उग्र होगा। संघ का कहना है कि बीएड धारकों को जेबीटी भर्ती के लिए मान्यता देने के फैसले का विरोध शुरू हो गया है। इसी के चलते मंगलवार को नाहन में सैकड़ों जेबीटी प्रशिक्षुओं ने शहर भर में विरोध रैली निकालकर जमकर प्रदर्शन किया। उपायुक्त कार्यालय के बाहर धरना देते हुए जमकर नारेबाजी की। मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेज बीएड धारकों को जेबीटी भर्ती में मान्यता न दिए जाने की मांग की। जेबीटी प्रशिक्षुओं ने यह भी ऐलान किया कि यदि सरकार ने उनकी मांग नहीं मानी तो वह सड़कों पर उतरकर आंदोलन करने को मजबूर होंगे। जेबीटी प्रशिक्षुओं का कहना है कि इस बात का विरोध कर रहे हैं कि बीएड करने वाले जेबीटी टेट क्वालिफाइड नहीं है। ऐसे में उन्हें जेबीटी भर्ती में शामिल नहीं किया जाना चाहिए। सरकार जेबीटी प्रशिक्षुओं के साथ न इनसाफी कर रही है। जेबीटी प्रशिक्षुओं की मांग है कि जेबीटी व बीएड बिलकुल अलग-अलग प्रशिक्षण है, लिहाजा दोनों को अलग-अलग रखा जाए।  इस मौके पर संघ के सचिव नरेंद्र सिंह, गोपाल, मोनिका, भारती, राजकुमार सुनीता, फतेह चंद, खूब राम, नवीन महत, अनिता, राजकुमार सहित तीन-चार जेबीटी बेरोजगार प्रशिक्षु एवं अध्ययनरत प्रशिक्षुओं ने भाग लिया।

You might also like