डीसी बोले, एनसीबी कोड से कम होगी ऊर्जा की खपत

बिलासपुर —व्यवसायिक भवनों में बिजली की खपत कम करने के उद्देश्य से राज्य में हिमाचल प्रदेश ऊर्जा संरक्षण भवन संहिता-2018 लागू होने जा रहा है। ऊर्जा निदेशालय हिमाचल प्रदेश द्वारा उपायुक्त कार्यालय बिलासपुर में संबंधित विभागों के इंजीनियर व वास्तुकारों के लिए दो दिवसीय की कार्यशाला  का आयोजन किया गया। कार्यशाला की अध्यक्षता उपायुक्त विवेक भाटिया ने की। इस अवसर पर उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश ऊर्जा संरक्षण भवन संहिता-2018 लागू होने से होटल, अस्पताल व शैक्षणिक सस्ंथान अनुसंधान संस्थान, शॉपिंग कांप्लेक्स व सार्वजनिक संस्थान इत्यादि जिनका निर्मित क्षेत्रफल 750 वर्ग मीटर व इससे अधिक हो, उन भवनों को हिमाचल प्रदेश में ऊर्जा संरक्षण भवन संहिता-2018 एनर्जी कम्जर्वेशन बिल्डिंग कोड (एनसीबी) के अनुसार ही भवन निर्माण स्वीकृति प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस कोड व नियम की अधिसूचना हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि इस कोड के अनुसार बने हुए भवनों में ऊर्जा खपत तकरीबन 30 से 50 प्रतिशत तक कम की जाएगी। कार्यशाला में न्यू दिल्ली के मास्टर ट्रेनर एमएस गौड, एसएमएच आदिल, सैफूदीन व अश्वनी ने एचपीईसीबीसी-2018 कोड के विभिन्न प्रावधानों एवं नियमों तथा इनके क्रियान्वयन के बारे में उपस्थित प्रतिभागियों को विस्तृत रूप से जानकारी दी। ऊर्जा निदेशालय हिमाचल प्रदेश के अधीक्षण अभियंता दीपक जसरोटिया ने सरकार द्वारा इस संदर्भ में अब तक की प्रगति और इस कोड के लागू होने के विभिन्न पहलुओं से उपस्थित प्रतिभागियों को अवगत करवाया। कार्यशाला में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को उपायुक्त द्वारा प्रमाण पत्र वितरित किए गए।

You might also like