ढली से कुफरी तक भारी ओलावृष्टि

छह से सात इंच तक बिछे ओले; बारिश से नौ डिग्री सेल्सियस लुढ़का तापमान, विभाग का पूर्वानुमान,15 तक तेवर दिखाएगा मौसम

शिमला  – हिमाचल प्रदेश में मौसम फिर से तेवर  दिखाने लगा है। शनिवार को राज्य के  मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में कई स्थानों पर बारिश व ओलावृष्टि रिकार्ड की गई है। बारिश व ओलावृष्टि से तापमान में एकाएक भारी गिरावट आई है। तामपान में गिरावट आने से पहाड़ों पर जहां जनता ने भीषण गर्मी से राहत ली है। मगर मौसम के रौद्र रूप ने किसानों व बागबानों के माथे पर फिर से चिंता की लकीरें खीच दी हैं, जबकि राज्य के मैदानी इलाकों में गर्मी का प्रकोप अभी जारी है। खासतौर पर राज्य के ऊना, कांगड़ा बिलासपुर व हमीरपुर में अभी भी  भीषण गर्मी पड़ रही है।  मौसम विभाग की माने तो राज्य में 17 मई तक मौसम खराब बना रहेगा। राज्य में 13 व 15 मई को फिर से भारी बारिश, तूफान व ओलावृष्टि होगी।  राज्य में शनिवार को भी मौसम के तेवर कडे़ बने दिखे। शिमला के ढली से लेकर कुफरी तक भारी ओलावृष्टि हुई है। करीब 20 से 25 मिनट तक हुई ओलावृष्टि से काफी समय तक उक्त क्षेत्र में जनजीवन थमा रहा। ढली से लेकर कुफरी तक छह से सात इंच ओलावृष्टि रिकार्ड की गई है, जिसके चलते उक्त क्षेत्र में काफी समय तक वाहनों के पहिए थमे रहे। बारिश व ओलावृष्टि से अधिकतम तापमान में एक से नौ डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट आई  है। वही न्यूनतम तापमान में भी गिरावट रिकार्ड की गई है। पहाड़ों पर भले ही तापमान लुढ़का है। मगर राज्य के मैदानी इलाकोें में अभी भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है। ऊना के अधिकतम तापमान में एक डिग्री तक का उछाल आया है। ऊना का पारा 41.5 डिग्री रिकार्ड किया गया है। इसके अलावा राज्य के हमीरपुर, कांगडा व बिलासपुर में भी गर्मी का कहर जारी है। लेकिन तापमान में उछाल आने से राज्य के पहाड़ी क्षेत्रों में जनता ने गर्मी से काफी हद तक की राहत ली है।  कल्पा के अधिकतम तापमान में सबसे अधिक नौ डिग्री तक की गिरावट आई है। इसके अलावा भुतंर में छह डिग्री व डलहौली में सात डिग्री तक तापमान लुढ़का है। मौसम विभाग के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने बताया कि राज्य में 17 मई तक मौसम खराब बना रहेगा। राज्य के मैदानी व मध्यम ऊचांई वाले क्षेत्रों में 13 व 15 मई को फिर से भारी बारिश, तूफान व ओलावृष्टि होगी।

You might also like