तिब्बती शिक्षक पर मीटू का आरोप

धर्मशाला  –दिल्ली से गगल आते समय फ्लाइट के दौरान एक महिला को छेड़ने वाले तिब्बती दागरी रिंपोछे पर अब एक विदेशी महिला ने छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। तीन मई को जहाज में किन्नौर की एक महिला के साथ छेड़छाड़ के आरोप में उसके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की गई थी। अब एक बार फिर उसी तिब्बती के खिलाफ स्पेन की जकायरा पेरेड वाल्दिविया ने 2008 में मकलोडगंज में एक मठ में अपने निवास पर उनके साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाते हुए एक वीडियो जारी किया है। उस समय वह बौद्ध धर्म की शिक्षा लेने के लिए धर्मशाला में रह रही थी। मंगलवार को पोस्ट किए गए एक यू-ट्यूब वीडियो में उक्त स्पेनिश महिला ने कहा कि उसे बाहर आने और यह बताने में काफी समय लगा कि क्या हुआ था, क्योंकि कुछ लोगों ने उसे समझाने की कोशिश की कि ऐसा नहीं हुआ  या जो कुछ भी वह किया गया था, उसके लिए उसे माफ कर दिया जाना चाहिए। उसने वीडियो में कहा कि वह कई अन्य महिलाओं के बारे में जानती थी, जिनके साथ आरोपी ने छेड़छाड़ की थी। उसने उन महिलाओं को अपनी आपबीती सुनाने के लिए आगे आने का  आह्वान भी किया है। साल 2010 में, वाल्दिविया ने इस घटना का विवरण देते हुए चार पन्नों की आपबीती लिखी, जिसमें उन्होंने बताया कि उन्होंने डिस्क हर्निया की समस्या के लिए आशीर्वाद और सलाह के लिए संबंधित व्यक्ति से संपर्क किया था, जिससे वह सर्जरी से बच सकें। श्री रिंपोछे ने उसे अपने निवास पर बुलाया।  एक श्रद्धेय भिक्षु के रूप में उस पर भरोसा करते हुए, उसने जो कहा वह किया। आरोपी ने  उसे एक मादक पेय यह कहते हुए दिया कि यह एक पवित्र पदार्थ है, जिसे उसने सत्र के दौरान कई बार पिया, उसे अपने शरीर पर भी डाला। उसने जो चार पन्नों का बयान लिखा, वह कांगड़ा पुलिस को दिया गया था। गौर हो कि दागरी एक तिब्बती बौद्ध शिक्षक है तथा उसके खिलाफ मीटू अभियान शुरू किया गया है, जिसके चलते इस महीने की शुरुआत में दिल्ली से गगल की उड़ान के दौरान छेड़छाड़ का आरोप लगा था। बीते तीन मई को एक महिला ने कांगड़ा पुलिस के साथ एक पुलिस शिकायत दर्ज करवाई, जिसमें कहा गया था कि दागरी ने एयर इंडिया की फ्लाइट में उसके साथ छेड़छाड़ की। गगल पुलिस ने उसे हिरासत में लिया और वह अब मामले में जमानत पर है। 

You might also like