तिरंगे के लिए बेच दिया घरबार

हैदराबाद – तिरंगे के प्रति हर एक नागरिक के अंदर सम्मान का भाव होता है, लेकिन आंध्र प्रदेश के एक शख्स के मन में राष्ट्रध्वज के लिए जज्बा ऐसा कि उसने अपना घर ही बेच दिया। ऐसा करने वाले शख्स का नाम आर. सत्यनारायण है, जो कि पेशे से बुनकर हैं। सत्यनारायण कुछ अलग तरीके से तिरंगे को तैयार करना चाहते थे। वह बिना किसी सिलाई या जोड़ के सिंगल कपड़े पर ही तिरंगे को तैयार करना चाहते थे। काफी दिनों से ऐसा करने की ठान चुके सत्यनारायण को अपने इस सपने को पूरा करने के लिए साढ़े छह लाख रुपए की जरूरत हुई, जिसके लिए उन्होंने अपना घर ही बेच दिया। तिरंगे को तैयार करने में उन्हें चार चार साल का वक्त लगा।

लालकिले पर लहराता देखने का सपना

आठ फुट गुणा 12 फुट का तिरंगा तैयार करना सत्यनारायण के लिए अनोखा ही अनुभव था। उन्होंने दावा किया कि सिंगल कपड़े पर तैयार एक भी तिरंगा नहीं है। सभी तिरंगों को केसरिया, सफेद और हरे कपड़ों को आपस में सिलकर तैयार किया जाता है। वह अब अपने सपने को और भी आगे ले जाकर इसे लालकिले पर फहराना चाहते हैं।

शॉर्ट फिल्म से मिली थी प्रेरणा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विशाखापत्तनम रैली में सत्यनारायण ने उनको यह खास तिरंगा सौंपा था, हालांकि इसकी विशेषता को बताने का मौका नहीं मिल सका। उन्होंने बताया कि ऐसा तिरंगा तैयार करने की प्रेरणा उन्हें ‘लिटिल इंडियंस’ नाम की शॉर्ट फिल्म से मिली, जहां एक्टर तिरंगे के तीनों रंगों को एकसाथ ही सिलकर तैयार करता है।

You might also like