तीन दिन तूफान-ओले बारिश सब साथ-साथ

 शिमला  —हिमाचल प्रदेश में मई माह के दौरान भी मौसम कड़े तेवर दिखा रहा है। रविवार को चूड़धार सहित कुछ ऊंची चोटियों पर फिर से बर्फबारी रिकार्ड की गई है। इसी बीच 13, 14 और 15 मई को राज्य के मैदानी सहित मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बारिश, तूफान व ओलावृष्टि होने की संभावना जताई गई है। वहीं, रविवार को शिमला में बारिश के साथ हल्की ओलावृष्टि हुई है। बारिश व ओलावृष्टि से अधिकतम व न्यूनतम तापमान में फिर से गिरावट आई है जिससे पहाड़ों पर सुबह-शाम फिर से ठंड का एहसास होने लगा है। मौसम विभाग की मानें तो राज्य में 18 मई तक मौसम कड़े तेवर दिखाएगा। विभाग ने 13, 14 और 15 मई को राज्य के मैदानी इलाकों सहित मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर भारी बारिश, तूफान व ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की है। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी होने की संभावना जताई जा रही है। राज्य में रविवार को मौसम खराब बना रहा। पहाड़ों पर सुबह से ही बारिश का सिलसिला शुरू हो गया था। चूड़धार सहित किन्नर कैलाश की पर्वत श्रृंखलाओं पर ताजा बर्फबारी रिकार्ड की गई है।  राजधानी में बारिश के साथ हल्की ओलावृष्टि हुई है। वहीं, राज्य के कुछ क्षेत्रों में तूफान चलने की सूचना है। अधिकतम तापमान में एक से पांच डिग्री तक की गिरावट रिकार्ड की गई है। डलहौजी व कल्पा के अधिकतम तापमान में पांच डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट आई है। भुंतर, ऊना में तीन डिग्री, हमीरपुर, केलांग, शिमला में दो, नाहन, धर्मशाला और कांगड़ा में एक डिग्री तक का तापमान लुढ़का है। बिलासपुर के तापमान में कोई खास परिवर्तन नहीं आया है। राज्य में तापमान में गिरावट आने से लोगों ने भीषण गर्मी से राहत की सांस ली ली है, मगर मौसम के रौद्र मिजाज ने किसानों व बागबानों की नींदें उड़ा दी हैं। जिला शिमला में बीते दो दिनों के दौरान ओलावृष्टि से लाखों की फसलों को नुकसान पहुंचा है। वहीं, मौसम विभाग के पूर्वानुमान को देखते हुए किसान-बागबान आगामी दिनों के लिए भी चिंतित दिख रहे हैं। मौसम विभाग के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने बताया कि राज्य के मैदानी व मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में आगामी तीन दिनों के दौरान भारी बारिश, ओलावृष्टि होगी। राज्य में 18 मई तक कई स्थानों पर गर्जन के साथ बारिश होगी।

कुफरी में बारिश

बीते 24 घंटों के दौरान कुफरी में सबसे अधिक 17 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई है। इसके अलावा जंजहैली में पांच, कुमारसैन में चार, चंबा, डलहौजी, कल्पा, कोठी व राजगढ़ में तीन मिलीमीटर तक बारिश आंकी गई है।

You might also like