तीन नए एकलव्य स्कूल खुलेंगे

लाहुल, पांगी और भरमौर में निर्माण के लिए मिले 11.36 करोड़

शिमला —जनजातीय क्षेत्र लाहुल, पांगी और भरमौर में अनुसूचित जनजाति के छात्रों के लिए तीन नए एकलव्य आदर्श आवासीय स्कूल खोले जाएंगे। यह बात जनजातीय विकास विभाग की समीक्षा बैठक में आयुक्त एवं प्रधान सचिव जनजातीय विकास ओंकार शर्मा ने कही। उन्होंने कहा कि वर्ष 2005 से जिला किन्नौर के निचार में केवल एक एकलव्य आदर्श आवासीय स्कूल क्रियाशील था। वहां छात्रों के अच्छे प्रदर्शन को देखते हुए भारत सरकार के अनुसूचित जनजातीय मामलों के मंत्रालय द्वारा इन तीन नए एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों के लिए 56 करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत की गई है। स्कूलों के निर्माण के लिए पहली किस्त के रूप में 11.36 करोड़ रुपए प्राप्त हुए हैं। उन्होंने कहा कि मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार इन स्कूलों के प्रबंधन के लिए राज्य स्तरीय समिति का पंजीकरण किया जा रहा है और इस वर्ष से इन स्कूलों को क्रियाशील बनाने के लिए अन्य औपचारिकताओं को भी पूरा  कया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इन स्कूलों को ‘आदर्श स्कूल’ बनाने के लिए सभी प्रयास सुनिश्चित किए जा रहे हैं। सभी एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों में छठी कक्षा में दाखिला लेने की तिथि 16 जून, 2019 निर्धारित की गई है। उन्होंने कहा कि वर्तमान वित्त वर्ष 2019-20 के लिए जनजातीय उप योजना में 7100 करोड़ का नौ प्रतिशत यानि 639 करोड़ कुल राज्य योजना परिव्यय के लिए रखे गए हैं और यह धनराशि जनजातीय क्षेत्रों के लिए संबंधित विभागों द्वारा लागू करने के लिए आवंटित की गई है, ताकि सरकार द्वारा तय मानदंडों के अनुरूप उपलब्धियों को सुनिश्चित किया जा सके।

 

You might also like