तूफानी दौरों की राह में आसमानी चुनौती

खराब मौसम ने भुंतर में रोका मुख्यमंत्री का काफिला, लाहुल जाने का था कार्यक्रम

भुंतर -आम चुनावों के लिए मतदान का समय निकट आते ही तुफानी दौरे पर निकले दिग्गजों को खराब मौसम की चुनौती मिलने लगी है। शनिवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को इसी चुनौती ने भुंतर में रोक दिया। हालांकि उन्होंने हिम्मत करके हेलिकाप्टर से लाहुल जाने की कोशिश भी की, लेकिन आधे रास्ते से वापस आना पड़ा और भुंतर से ही लाहुल के कार्यकर्ताओं व वोटरों को संदेश दिया। लिहाजा, मौसम की चुनौती आने वाले दिनों में कई और दिग्गजों के लिए परेशानी बनने के लिए तैयार बैठी है। मौसम विभाग के पूर्वानुमानों के अनुसार चुनाव से पहले करीब चार दिनों तक मौसम के खराब रहने के आसार है और इस दौरान घाटी में प्रचार करने वाले नेताओं को मौसम से भी जूझना होगा। शनिवार को भुंतर में घंटों तक मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और उनकी टीम को मौसम के ठीक होने का इंतजार करना पड़ा, लेकिन जब स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो उन्होंने भुंतर से ही लाहुलवासियों को संदेश दिया तो साथ ही भुंतर मंे ही चुनावों को लेकर आगामी रणनीति भी तैयार की और कार्यकर्ताओं के साथ चुनावी मंत्रणा की। इसके अलावा उन्होंने यहां के एक निजी होटल में ही लंच किया और लंच के दौरान भी वह स्थानीय नेताओं को चुनावों के लिए निर्देश देते रहे। बता दंे कि मतदान के लिए अब एक सप्ताह ही बचा है और ऐसे में भाजपा-कांग्रेस के नेता अपने-अपने प्रत्याशियों को जिताने के लिए ऐड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं। बताया जा रहा है कि कुल्लू में भी एक सप्ताह में कई जनसभाएं और कार्यक्रम तय किए गए हैं, लेकिन ऐन मौके पर मौसम की चुनौती ने दोनों ही दलों के नेताओं को शेड्यूल पर फिर से गौर करने का अलार्म बजाया है। बहरहाल, मतदान से पहले वोटरों को अपने पक्ष में करने के अलावा मौसम की चुनौती से भी सामना करना पड़ रहा है।

You might also like