‘तू शूण तारा लाडि़ए’ पर झूूमे दर्शक

भुटठी गांव में मनाया सलाहरा मेला, कलाकारों ने रंगारंग प्रस्तुतियां देकर लूटी वाहवाही

कुल्लू -जिला कुल्लू की लगघाटी के भुटठी गांव में सलाहरा मेले की सांस्कृतिक संध्या में भुटठी स्कूल की छात्रओं द्वारा डाली गई किन्नौरी नाटी आकर्षण का केंद्र रही। समाजसेवी तिलक राज ने सांस्कृतिक संध्या में बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। ईगल युवक मंडल के अध्यक्ष संजीव कुमार ने मुख्यातिथि को कुल्लवी टोपी मफलर व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस दौरान मुख्यातिथि ने अपने संबोधन में कहा कि देवभूमि के नाम से जानी जाने वाली कुल्लू घाटी अपनी प्राचीन परंपरा को संजोए रखने के लिए पूरी दुनियां में जानी जाती है। इस दौरान उन्होंने युवाओं से आग्रह करते हुए कहा कि युवा पीढ़ी को नशे के दलदल से दूर रहना चाहिए और जो भी युवा उनके संपर्क में है जो नशा करता है, उसको नशे से होने वाले नुकसान के बारे जानकारी दें और उसे नशे से दूर रहने के लिए प्रेरित करें। सांस्कृतिक संध्या में शायवी व सहेली ने ग्रुप डांस,  शुभम व चंदन ने फिल्मी गीत पर नृत्य, पारुल और पार्टी ने बोल चुडि़यां बोले कंगना गीत पर समूह नृत्य प्रस्तुत किया। लगघाटी की उभरती लोक गायिका प्रोमिला ने प्रोमिला ने तू शूण तारा लाडि़ए, माहरी जाचा वे ऐणा केरु थी। कुल्लूवी गीत गाकर खब वाहवाही लूटी। लोक गायक प्रेम ने लाल तेरे होठडू, पैदल नी चलिदा, दूरा देशा रे माहणुआ, सच्ची मोहब्बत न केरे,  सुपने नौठा उडि़या,  बांके पोटूआलिए आदि अपने गीतों से दर्शकों को खूब मनोरंजन किया। वहीं मेला देखने दर्शक दीर्घा में बैठे हिमाचली लोक गायक आई एस चांदनी ने दर्शकों की फरमाईश पर मां फुगणी का भजन जय मां फुगणी, तेरी जय जयकार सुनाकर कुल्लू देर के लिए सांस्कृतिक संध्या में माहौल को भक्तिमय बना दिया। सांस्कृतिक संध्या के बारे जानकारी देते हुए। ईगल युवक मंड़ल के अध्यक्ष संजीव कुमार ने बताया कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी मेला धूमधाम से मनाया गया। उन्होंने बताया कि यह मेला देवता थान और घाटी के सवसे बड़े देवता श्री कृष्ण के मिलन से शुरू होता हैं। उन्होंने बताया कि हर वर्ष की भांति इस बार भी देव कार्य खत्म होने के बाद ईगल युवक मंड़ल द्वारा सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया। जिसमें लोक गायक प्रेम सिंह संध्या का मुख्य आकर्षण रहे।

 

You might also like