तोड़फोड़ से नहीं मिलेगा पीडि़त बेटी को न्याय

श्रीनगर – जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि तोड़फोड़ और संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से उत्तर कश्मीर में बांदीपोरा जिले के सुंबल की दुष्कर्म पीडि़ता को न्याय दिलाने में मदद नहीं मिलेगी। श्रीनगर के उपायुक्त डा. शाहिद चौधरी छात्रों की हिंसा पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि जब मामले की सुनवाई पहले ही फास्ट ट्रैक अदालत में हो रही है तो ऐसे में छात्रों के कक्षाओं से बाहर आकर झड़प करने का कोई कारण नहीं है। जम्मू-कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट के प्रमुख राजनेता शाह फैसल ने कहा कि जो लोग सार्वजनिक संपत्तियों और एंबुलेंस में तोड़फोड़ में शामिल हैं उन्हें बख्शा नहीं जाना चाहिए। अमर सिंह कालेज के छात्रों ने कक्षाओं का बहिष्कार किया और सुरक्षा बलों के साथ झड़पें की जिन्हें मंगलवार को आंसू गैस के गोले दागकर तितर-बितर किया गया। नेशनल कान्फ्रेंस के उपाध्यक्ष श्री अब्दुल्ला ने ट््वीट किया कि तोड़फोड़ में शामिल लोग किसी तरह से बालिका को न्याय दिलाने में मदद नहीं करेंगे। संपत्ति को नुकसान न पहुंचाएं।

You might also like