दफ्तरों में 21 के बाद काम

कांगड़ा—सरकारी कार्यालयांे मंे काम करवाने के लिए आने वाले लोगांे का कार्य अब 21 मई के बाद ही होगा। लोकसभा के आम चुनाव के चलते प्रदेश भर के सरकारी कार्यालयांे से बाबूआंे की ड्यूटी चुनाव प्रक्रिया संपन्न करवाने मंे लगाए जाने के चलते कार्यालयांे मंे इक्का-दुक्का स्टाफ ही मौजूद रहेगा। ऐसे मंे सरकारी कार्यालयांे में काम करवाने के लिए आने वाले लोगांे को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। प्रदेश मंे 19 मई को चुनाव प्रक्रिया संपन्न होने तथा ईवीएम मशीनांे को स्ट्रांग रूम तक पहुंचाने के बाद ही कर्मचारियांे को चुनाव ड्यूटी से रीलीव किया जाएगा। हिमाचल प्रदेश में लोकसभा-2019 के आम चुनाव के लिए 19 मई को प्रदेश भर मंे वोट डलंेगे। इसके लिए गुरुवार को चुनाव ड्यूटी के लिए तैनात किए गए अधिकारी-कर्मचारी दफ्तरांे से चुनाव ड्यूटी के लिए रीलीव कर दिए गए हंै। चुनाव ड्यूटी मंे तैनाती होने के चलते अधिकतर सरकारी कार्यालय बिना कर्मचारियांे के खाली हो गए। शुक्रवार को कर्मचारी ईवीएम मशीनांे के साथ तैनाती वाले मतदान कंेद्रांे के लिए रवाना होंगे। चुनाव प्रक्रिया संपन्न करवाने के लिए 7730 पीठासीन अधिकारी तथा 23190 मतदान अधिकारी तैनात किए गए हंै। प्रदेश में 19 मई को होने वाले लोकसभा चुनाव मंे प्रदेश भर के 53 लाख 30 हजार 154 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करंेगे। प्रदेश भर मंे 17 मई को चुनाव प्रक्रिया संपन्न करवाने के लिए अधिकारी-कर्मचारी ईवीएम मशीनांे के साथ रवाना हांेगे। चुनाव ड्यूटी में लगे स्टाफ को गुरुवार को भी चुनाव प्रक्रिया के सबंध में भी रिहर्सल करवाई गईहै। ऐसे मंे अब सरकारी कार्यालयांे मंे 17 मई से लेकर 20 मई तक अपने-अपने कार्यों को करवाने के लिए समस्याआंे का सामना करना पड़ सकता है। कार्यालयांे में इक्का-दुक्का कर्मचारियांे को ही रुटीन के कार्यांे के लिए रखा गया है। 

You might also like