दर्शन कर लो भक्तों जोत ज्वालाजी तौं आई है

कंडाघाट—कंडाघाट के पड़ाव मैदान में नव दुर्गा क्लब कंडाघाट द्वारा 24वां भगवती जागरण शनिवार रात को बड़ी धूमधाम से आयोजित किया गया। जागरण में कंडाघाट की जज दीपिका ठकरान ने भी पड़ाव मैदान आकर माता के दरबार में माथा टेक आशीर्वाद लिया। जानकारी के अनुसार कंडाघाट के पड़ाव मैदान में शनिवार रात को जागरण का आयोजन किया गया। इस जागरण में माता की सांची जोत ज्वालाजी से लाई गई थी। शनिवार देर शाम करीब सवा आठ बजे माता की सांची जोत कंडाघाट पहुंची। जोत के कंडाघाट पहंुचने पर नव दुर्गा क्लब के सदस्यों ने बाजार में पटाखे जलाकर जोत का स्वागत किया। इसके बाद माता की जोत को पूरे बाजार में घुमाया गया व नौ बजे जोत को पड़ाव मैदान में बनाए गए माता के दरबार मंे रखा गया। इस दौरान 10 बजे से जागरण को शुरू किया गया। इस जागरण में कंडाघाट की जज दीपिका ठकरान के पहुंचने पर नव दुर्गा क्लब के सदस्यों ने उनका भव्य स्वागत किया। इसके बाद जज सहित क्षेत्र से आए लोगों ने ज्वालाजी से लाई गई माता की जोत को माथा टेक आशीर्वाद लिया। जागरण के दौरान बरनाले से आए राकेश राधे एंड पार्टी द्वारा एक से बढ़कर एक माता की भेंटें प्रस्तुत की गई, जिसके चलते क्षेत्र का माहौल भक्तिमय हो गया। क्षेत्र के लोगों ने भी माता की भेंटों पर खूब झूमे।  जागरण के दौरान बरनाले से आई पार्टी द्वारा राधाकृष्ण, काली माता, शिव-पार्वती, घोरी बाबा व हनुमान की एक से बढ़कर एक झांकिया निकाली गई। कंडाघाट में आयोजित इस जागरण को लेकर नव दुर्गा क्लब के सदस्यों द्वारा पूरे शहर में रंग-बिरंगी लाइटों को लगाकर सजाया गया था। रविवार सुबह सात बजे माता की आरती करने के बाद भोग लगाया गया। जागरण को लेकर नव दुर्गा क्लब कंडाघाट के सदस्यों द्वारा कंडाघाट की नई धर्मशाला में रविवार दोपहर विशाल भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें क्षेत्र की भारी संख्या में लोगों ने आकर भंडारे का प्रसाद ग्रहण किया। व्यापार मंडल कंडाघाट के प्रधान रोहित सूद, सिरी नगर पंचायत के पूर्व प्रधान गुरविंदर सिंह, उपप्रधान मनीष सूद,  एसएचओ कंडाघाट सुरेंद्र सिंह, एएसआई राजेंद्र ठाकुर सहित क्षेत्र के लोग उपस्थित थे। नव दुर्गा क्लब कंडाघाट के प्रधान सुरेश गर्ग, उपप्रधान राजेश गुप्ता व  सदस्य सुनील त्रिपाठी ने बताया कि क्लब के सदस्य व स्थानीय लोगों के सहयोग से पड़ाव मैदान में 24वां भगवती जागरण धूमधाम से आयोजित किया गया। इस अवसर पर भंडारे का भी आयोजन किया गया।

You might also like