दलाईलामा की सेहत की फिक्र

सर्वोच्च बौद्ध धर्मगुरु के खराब स्वास्थ्य को लेकर टीएमसी प्रशासन हरकत में

कांगड़ा -विश्व भर में शांति का पाठ पढ़ाने वाले बौद्ध धर्म के सर्वोच्च गुरु दलाईलामा के स्वास्थ्य खराब होने के मामलांे को देखते हुए डा. राजंेद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल टांडा भी हरकत मंे आ गया है। अस्पताल में दलाईलामा के नाम से बुक स्पेशल वार्ड मंे सभी व्यवस्थाआंे को जांचने तथा किसी आपात स्थिति मंे उनके यहां पहुंचने के दौरान व्यवस्थाआंे को दुरुस्त किए जाने को लेकर प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है। इन व्यवस्थाआंे को और बेहतर बनाने तथा इस दौरान आवश्यक स्टाफ की मौजूदगी करने को लेकर टीएमसी प्रशासन द्वारा बैठक का आयोजन भी किया जाएगा। यह बैठक टांडा अस्पताल में इसी माह के मध्य में आयोजित की जाएगी। जानकारी के नोबल शांति पुरस्कार से नवाजे गए तिब्बति समुदाय के सर्वोच्च धर्मगुरु 14वंे दलाई लामा का पिछले सप्ताह स्वास्थ्य खराब हुआ था। स्वास्थ्य खराब होने के दौरान उन्हंे दिल्ली के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था। 83 वर्षीय दलाईलामा का स्वास्थ्य अचानक खराब होने के इस मामले के बाद प्रदेश मंे भी उनको बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए विभाग सतर्क हो गया है। जिला कांगड़ा मंे स्थापित टांडा मेडिकल कालेज में उनको किसी भी आपात स्थिति के दौरान बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए अपनी तैयारियांे मंे जुट गया है। अगले सप्ताह होने वाली टीएमसी प्रशासन की बैठक में चिकित्सकांे की मौजूदगी सहित अन्य व्यवस्थाआंे को लेकर अपनी योजना तैयार करेगा, जिसमें चिकित्सक, स्टाफ नर्स सहित अन्य स्टाफ की सूची तैयार की जाएगी। हालांकि इससे पहले भी टीएमसी प्रशासन द्वारा इस तरह की स्वास्थ्य टीम का गठन किया गया है।

You might also like