दल बदलुओं को सबक सिखाएगी जनता

रामस्वरूप ने सुखराम परिवार को लिया आड़े हाथ; बोले छिपकर वार करने की आदत

मंडी -मंडी संसदीय क्षेत्र के मतदाता दल-बदलुओं को 19 मई को सबक सिखाएंगे तथा दूसरी बार चुनाव में खड़े होने की हिम्मत नहीं करेंगे। सदर क्षेत्र की जो पंडित सुखराम के परिवार ने दुर्दशा की है वह किसी से छिपी नहीं है। मंडी संसदीय क्षेत्र के सदर विधानसभा के तल्याहड़, मराथू, पधिंयू, रंधाड़ा, जनेड़, कठलग, कैहनवाल में चुनावी जनसभाओं को संबोधित करते हुए भाजपा प्रत्याशी रामस्वरूप शर्मा ने ये शब्द कहे। उन्हांेने कहा कि पंडित सुखराम और अनिल शर्मा ने प्रदेश तथा उससे बाहर करोड़ांे रुपए के आलीशान बंगले बनाए हैं, मगर मंडी शहर मंे एक शहीद स्मारक भी नहीं बना पाए। इस परिवार ने केवल सदर के लोगों को गुमराह करके उन्हें वोट बैंक के तौर पर इस्तेमाल किया और सदर को पिछड़ा क्षेत्र बनाने मंे अपनी भूमिका निभाई। पंडित सुखराम तीन बार एमपी तथा अनिल शर्मा एक बार एमपी रह चुके हैं,  वह  श्वेत पत्र जारी करें और मंडी संसदीय क्षेत्र के लोगों को बताएं कि उन्होंने क्या कार्य किया है। उन्हांेने कहा कि सांसद बनने के बाद मंडी में कलस्टर यूनिवर्सिटी, फोरलेन, मेडिकल यूनिवर्सिटी, शहर का सौंदर्यीकरण, शहीद स्मारक का निर्माण कार्य, मंडी शहर के लिए 83 करोड़ ग्रेविटी वाटर पेयजल योजना, हेलिपैड, हवाई अड्डे का सर्वेक्षण, रेल लाइन का सर्वेक्षण, द्रंग नमक खान का शुभारंभ उन्होंने प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सहयोग से करवाया। क्या यह सारा कार्य पंडित सुखराम के पोते ने किया है। अनिल शर्मा जो कमरे के भीतर बैठकर अलग-अलग मोबाइल सिमों से कांग्रेस का प्रचार कर रहे हैं, वह सामने मैदान में आएं। छिपकर वार करने की इस परिवार की पुरानी आदत है तथा इस आदत के तहत ही ठाकुर कर्म सिंह को सुखराम ने मुख्यमंत्री नहीं बनने दिया था।  इस अवसर पर पूर्व विधायक कन्हैया लाल ठाकुर, डी.डी. ठाकुर, मंडलाध्यक्ष मनीष कपूर, युवा मोर्चा अध्यक्ष भुवनेश ठाकुर सहित कई अन्य भाजपा नेता व कार्यकर्ता भी उपस्थित थे।

You might also like