दस रुपए ज्यादा वसूलने पर खोला मोर्चा

कांगड़ा बस स्टैंड पर कंपनी के रवैये से एचआरटीसी कर्मचारी खफा; बस बैरियर के पास खड़ा कर चलता बना ड्राइवर, ट्रैफिक जाम

कांगड़ा -कांगड़ा बस स्टैंड में बुधवार को उस समय माहौल गरमा गया, जब अड्डे में प्रवेश करने वाली परिवहन निगम की बसों से दस रुपए अधिक प्रवेश शुल्क निजी कंपनी द्वारा वसूले गए। इस पर हिमाचल परिवहन निगम कर्मियों ने कंपनी के खिलाफ  मोर्चा खोल दिया है। निगम का आरोप है कि पर्ची पहले 77 रुपए काटी जाती थी। निगम मुख्य कार्यालय ने 14 मई को इस बारे में आदेश पारित किए थे कि अड्डा फीस 77 की बजाय 67 रुपए दी जाएगी। रात्रि ठहराव का शुल्क 93 रुपए वसूल किया जाएगा। निगम का आरोप है कि बस अड्डा कांगड़ा में अड्डा फीस वसूलने वाली कंपनी अब भी 77 रुपए की पर्ची ही काट रही है।  इसी के चलते निगम की बस चालक से बुधवार को भी जब 77 रुपए मांगे गए, तो बस चालक व परिचालक ने 67 रुपए देने की बात की।  कंपनी के कर्मचारी 77 रुपए लेने पर अड़ गए। कंपनी कर्मियों ने बैरियर बंद कर दिया। इसके बाद बस चालक भी बस वहीं खड़ी करके चला गया। इससे बस अड्डे से बसों का बाहर निकलना बंद हो गया। इस कारण अड्डे में बसें फंस गईं और सड़क पर जाम की स्थिति बन गई। इससे कई बसों के रूट भी प्रभावित हुए। मामले की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक पंकज चड्ढा भी पहुंच गए। इस बारे में पंकज चड्ढा का कहना है कि अड्डा फीस के बारे में जो आदेश मुख्यालय से आए हैं उसकी जानकारी लिखित रूप में अड्डा फीस वसूलने वाली कंपनी को दे दी गई थी, जिसकी रिसीविंग भी ली गई है। कंपनी को हमने अपना पक्ष मुख्यालय में भी रखने को कहा है और यदि कंपनी का पक्ष सही होता है, तो निगम सभी बसों की कम दी गई दस रुपए फीस की भी भरपाई कर देंगे। इसके बावजूद कंपनी 77 रुपए ही चार्ज कर रही है। मौके पर पहुंचे एसडीएम कांगड़ा जतिन लाल का कहना है कि उन्होंने फिलहाल पुलिस को यातायात सुचारू रखने के निर्देश दिए हैं। निगम मुख्यालय के आदेश भी उन्होंने देख लिए हैं और अड्डा फीस वसूलने वाली कंपनी के प्रतिनिधियों को भी अपना पक्ष रखने के लिए उन्होंने कार्यालय में बुलाया है।

You might also like