दाखिले से वंचित छात्रों को चांस

चंडीगढ़ –अब नियम 134ए के तहत किए गए आवेदन में त्रुटि की वजह से वंचित रहने वाले विद्यार्थियों को भी दाखिले का मौका मिला है। मौलिक शिक्षा निदेशालय ने नियम 134ए के तहत टेस्ट क्वालिफाई करने वाले ऐसे विद्यार्थियों के अभिभावकों के पास नौ मई तक मैसेज भेजा जाएगा। दरअसल सोमवार को पंचकूला स्थित मुख्यालय में स्वास्थ्य शिक्षा सहयोग संगठन के प्रदेश अध्यक्ष बृजपाल परमार व प्रदेश संगठनमंत्री भारत भूषण बंसल की अगुवाई में संगठन सदस्यों की शिक्षा अधिकारियों के साथ बैठक हुई थी। ये बैठक देर शाम तक चली और इस दौरान बैठक में नियम 134ए के अलावा प्रदेशभर में चल रहे फर्जी स्कूलों संबंधी मसलों पर भी अहम चर्चा हुई। संगठन की तरफ से बृजपाल परमार ने नियम 134ए में आड़े आ रही समस्याएं रखीं, जिसके बाद मौलिक शिक्षा निदेशालय ने तुरंत प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी करते हुए ऐसे बच्चों को भी फिर से मौका देने की बात कही, जिनके आवेदन में त्रुटियां रह गई थीं। इन त्रटियों में बच्चे का नाम, क्लास, जेंडर, बोर्ड, स्कूल का नाम गलत दर्शाया गया है। इतना ही नहीं जिन बच्चों को बंद हो चुके स्कूल अलाट कर दिए गए हैं, ऐसे बच्चों के अभिभावकों के फोन पर फिर से मैसेज भेजकर उन आवेदनों को भी दाखिले की प्रक्रिया में शामिल किया जाएगा। स्वास्थ्य शिक्षा सहयोग संगठन के प्रदेश अध्यक्ष बृजपाल परमार ने कहा कि शिक्षा निदेशालय ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि जिस स्कूल में बच्चा फिलहाल पढ़ाई कर रहा है, उसी स्कूल में नियम 134ए के तहत उसका दाखिला हरगिज नहीं किया जाएगा। ऐसे दाखिलों पर तुरंत रोक लगाने के निदेशालय ने आदेश दिए हैं। ऐसे बच्चों को दूसरे स्कूल अलाट करने की प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

 

You might also like