दाड़वी के लिए सड़क सिर्फ एक सपना

मैहला –आजादी के बाद से बीत जाने के बाद भी दाडवीं पंचायत के ग्रामीणों का सड़क सुविधा से जुड़ने का सपना साकार नहीं हो पाया है। सड़क सुविधा के अभाव में पंचायत विकास की मुख्यधारा से भी नहीं जुड़ पाई है। ग्रामीण आज भी रोजमर्रा की जरूरत की वस्तुओं को पीठ पर लादकर ले जाने को मजबूर हैं। आपातकाल में स्थिति ओर भी बदत्तर हो जाती है जब मरीज को पालकी में डालकर मुख्य सड़क तक पहंुचाना पड़ता है। कई मर्तबा समय पर चिकित्सीय सुविधा न मिलने से मरीज बीच रास्ते में ही दम तोड जाते हैं। पंचायत को सड़क सुविधा से जोडने की सरकारी कवायद सर्वे कार्य से आगे नहीं बढ़ पाई है। ग्रामीण अर्जुन, सुरेश, अश्वनी, विजय, संजय व बलवंत आदि का कहना है कि दाडवीं पंचायत के रांभो, भैडीरा, लौआ, नैगा, नालुईं, दाड़वीं, बाट व जीडू गांव के लोग आज भी सड़क सुविधा को तरस रहे हैं। उन्होंने बताया कि इन गांवांे को सड़क सुविधा से जोड़ने को लेकर सात बार सर्वे कार्य किया जा चुका है, लेकिन हर बार निजी भूमि आडे़ आने का हवाला देकर बात आगे नहीं बढ़ पाई है। उन्होंने कहा कि सड़क सुविधा के अभाव में लोग गुरबत की जिंदगी जी रहे हैं। उन्होंने कहा कि सड़क सुविधा के अभाव में पंचायत विकास की दौड़ में भी पिछड़ कर रह गई है। उन्होंने बताया कि सड़क सुविधा से जोड़ने को लेकर राजनेताओं की ओर भी घोषणाएं महज कोरे आश्वासन ही साबित हुए हैं। उन्होंने ग्रामीणों की दिक्कतों को देखते हुए सरकार से जल्द पंचायत को सड़क सुविधा से जोड़कर राहत पहुंचाने की गुहार लगाई है।

You might also like