दादी मां के नुस्‍खे

गले का दर्द दूर करने के लिए रीठे के छिलके को पीसकर लगभग 1 ग्राम का चौथाई भाग की मात्रा में शहद को मिलाकर सुबह-शाम रोगी को चटाना चाहिए।

* शहतूत का शरबत पीने से गले की खुश्की और दर्द ठीक हो जाता है।

* मूली का रस और पानी को बराबर मात्रा में लेकर उसमें नमक मिलाकर गरारे करने से गले के घाव ठीक हो जाते हैं।

* हर 3-3 घंटे के अंदर 2 चम्मच सूखे साबुत धनिया को चबा-चबाकर चूसते रहने से हर प्रकार के गले का दर्द दूर होता है।

* भुनी हुई फिटकरी को ग्लिसरीन में मिलाकर  कुल्ला करने से गले के दर्द में आराम मिलता है।

* इमली के पानी से कुल्ला करने पर गले का दर्द दूर होता है।

* दो चम्मच नीम की पत्तियों के रस को एक गिलास गर्म पानी में, आधा चम्मच शहद को मिलाकर रोजाना गरारे करने से गले में जमा हुआा कफ दूर होता है।

* पानी में नमक को मिलाकर गरारे करने से टांसिल्स ,गले में सूजन, दांत के दर्द आदि रोगों से आराम मिलता है।

You might also like