दिघाई की अढ़ाई हजार आबादी की सेहत रामभरोसे

 सुरंगानी—सलूणी उपमंडल दिघाई पंचायत में स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी इंसानी जिंदगी पर भारी पड रही है। इलाके में स्वास्थ्य सुविधा न होने के चलते लोगों को उपचार के लिए आठ से चौदह किलोमीटर दूर सुंडला व सलूणी का रूख करना पड रहा है। आपातकाल में कई मर्तबा समय पर चिकित्सीय सुविधा न मिलने से मरीज बीच राह में दम तोड जाते हैं। ग्रामीणों की पंचायत में डिस्पेंसरी खोलने की मांग पर भी कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है। ग्रामीण राकेश कुमार, सीता राम, सजंय कुमार, अशोक कुमार, सतीश कुमार, विनोद कुमार, प्रताप सिंह, भुवनेश्वर कुमार, अंजू कुमारी व सन्नी कुमार आदि इलाके में स्वास्थ्य संस्थान न होने से भडार, गंगला, जैसरी, भैड़ोग, समोगा, सलेई व परजणा के लगभग दो से अढाई हजार लोगों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। हालात यह गर्भवती महिला व बच्चों को टीकाकरण करवाने के लिए आठ किलोमीटर सुंडला या चौदह किलोमीटर दूर सलूणी जाना पड रहा है। उन्होंने बताया कि इलाके में डिस्पंेसरी खोलने की मांग विभिन्न मंचों से उठाई जा चुकी है।एक ओर सरकार घर- द्धार पर लोगांे को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने का दम भर रही है वहीं दिघाई पंचायत की तस्वीर कुछ ओर ही कहानी ब्यां करती हैं। उन्होंनें सरकार व स्वास्थ्य विभाग से जल्द दिघाई

You might also like