‘दिव्य हिमाचल’ के मंच पर सात सुरों का संगम

प्रदेश के अग्रणी मीडिया ग्रुप के मेवा इवेंट ‘हिमाचल की आवाज’ सीजन-7 के ऑडिशन में प्रतिभागियों ने आजमाया भाग्य

मस्त हवाओं के घुंघरू और तान छेड़ती नदियां, गूंजती घाटियां, गुनगुनाती प्रकृति और कल-कल बहती नदियां प्रदेश की हर रुह में बसे संगीत व संगीतकार को उभारने के लिए हमेशा तत्पर रहती है। इसी कड़ी में  प्रदेश का अग्रणी मीडिया ग्रुप ‘दिव्य हिमाचल’ देवभूमि की छिपी अनेक प्रतिभाओं को निखार कर मंजिल तक पहुंचा रहा है। ‘दिव्य हिमाचल’ के सौजन्य से इस बार भी  ‘हिमाचल की आवाज सीजन-7’ की प्रतियोगिता में प्रतिभागियों का जोश दिखा…

 

सुंदरनगर में आवाज से जीता सबका मन

सुंदरनगर –सुकेत रियासत सुंदरनगर के महावीर पब्लिक स्कूल में आयोजित ‘दिव्य हिमाचल’ के मेगा इवेंट हिमाचल की आवाज सीजन-7 में छोटी काशी मंडी कुल्लू व इसके आसपास इलाकों के युवाओं ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। महावीर स्कूल के सभागार में आयोजित ऑडिशन में जहां बच्चों ने निर्णायक मंडल के सामने अपने सुरीली आवाज से उनका दिल जीता, वहीं दर्शकों को भी खूब लुभाया। ऐसी कोई परफार्मेंस खाली नहीं गई, जिसमें ताली न बजी हों। इस बार हिमाचल की आवाज के मंच पर प्रतिभागियों में कुछ अलग ही जोश देखने को मिला। प्रतिभागी में इतना जोश था कि वे अपनी बेहतर परफार्मेंस के लिए वेटिंग रूम में भी अपने संगीत यंत्रों संग रियाज करते नजर आए। क्योंकि ‘दिव्य हिमाचल’ द्वारा प्रदान किए गए इस मंच पर छा जाने का मौके को कोई भी खोना नहीं चाहता था। हर कोई अपनी बेहतरीन परफार्मेंस देकर मंच पर धमाल मचाना चाहता था। इस बार ऑडिशन में आठ से 75 साल के बीच के हर वर्ग के प्रतिभागियों ने भाग लिया। हर उम्र के प्रतिभागी में बराबर का जोश दिखा ।

महावीर स्कूल में सजा ‘हिमाचल की आवाज’ का मंच

सुंदरनगर -हिमाचल के युवाओं की सुरीली आवाज को प्रदेश सहित देश और दुनिया के सामने लाने को प्रदेश के अग्रणी मीडिया ग्रुप ‘दिव्य हिमाचल’ के मेगा इंवेट हिमाचल की आवाज सीजन-7 का सुंदरनगर में धमाकेदार आगाज हुआ। संगीत की दुनिया मंे नाम कमाने के चाहवान सुबह ही ‘दिव्य हिमाचल’ के ऑडिशन स्थल महावीर पब्लिक स्कूल सुंदरनगर मंे पहुंचना आरंभ हो गए। सुरीली आवाज की परख और प्रतिभाआंे की परख को ऑडिशन में पहुंचे संगीत गुरुआंे ने जहां प्रतिभागियांे की आवाज को बारीकी से परखा। वहीं उन्हंे भविष्य में संगीत की दुनिया में कदम रखने के लिए अपनाए जाने वाले टिप्स भी दिए। सुबह सुंदरनगर मंे शुरू हुए ऑडिशन सायं साढ़े पांच बाद तक चलते रहे। इसमें हर आयु वर्ग के प्रतिभागियांे ने अपनी बेहतरीन प्रस्तुतियां देकर ऑडिशन मंंे आए जजांे को भी अचंभित कर दिया। सोमवार को ‘दिव्य हिमाचल’ मीडिया ग्रुप के मेगा इवेंट हिमाचल की आवाज सीजन-7 का आगाज मटौर से शुरू हो गया।  मंडी व कुल्लू जिला सहित विभिन्न क्षेत्रांे से 141 विभिन्न आयु वर्ग के प्रतिभागियांे ने अपनी आवाज का हुनर संगीत गुरुआंे के समक्ष पेश किया। एक से बढ़कर एक प्रस्तुति ने ऑडिशन मंे समां बांधे रखा। पहली बार सभी आयु वर्ग के लिए इस ऑडिशन में प्रतिभागियांे ने भाग लिया। कड़ी धूप के बीच भी प्रतिभागी ऑडिशन देने के लिए सुंदरनगर मंे पहुंचते रहे। ऑडिशन के दौरान वरिष्ठ नागरिक प्रातीप कुमार तथा स्कूली कर्मी नीलम ने भी ऑडिशन के मंच पर अपनी बेहतरीन प्रस्तुति दी। प्रतिभागियांे के हुनर की परख संगीतज्ञ गुरु सुमन पटियाल, राकेश शर्मा व ब्रिज लाल चौहान रेखा शर्मा ने की।

तालियों की गड़गड़ाहट से गूंजा हाल

सुंदरनगर।  हिमाचल की आवाज 2019 के फनकारों की तलाश करने को लेकर ‘दिव्य हिमाचल’ का कारवां बुधवार को सुंदरनगर में पहुंचा। जहां पर महावीर पब्लिक स्कूल सुंदररनगर के सभागार में सजे मंच पर ऑडिशन देने आए प्रतिभागियों की सुरों की आवाज का जादू सिर चढ़ कर बोला। जिनका हर कोई इनके हुनर का मुरीद हो गया। महावीर पब्लिक स्कूल के हाल में जूनियर ग्रुप में प्रथम प्रतिभागी मिलन ने हिंदी गाने की प्रस्तुति देकर जहां निर्णायक मंडल का मन मोह लिया, वहीं तालियों की गड़गड़ाहट से हाल गूंज उठा। इसी तरह शिवांश की पेशकश  कान्हा आन पड़ी तेरे द्वार की श्रोताओं द्वारा खूब सराहना की गई। रणवीर भारद्वाज ने नच मेरी घुंघरी पहाड़ी तान पर नगमा छेड़ कर खूब वाहवाही लूटी। सिमरन अंसारी की प्रस्तुति वंदना सुबह सवेरे लेकर तेरा व तु लोंग ते मैंच ईलायची ने खूब तालियां बटोरीं। 75 वर्ष की प्रातीप कुमार ने भी मंच पर देश प्रेम गीत के साथ पहाड़ी गीत भी सुनाए। शीतला ठाकुर ने भक्ति गीत शिव कैलाश के भजन को सुर देकर अपनी गायन कला को दर्शाया। अमीर कुमार ने  चंबे जाई बस्सयां सुनाकर निर्णायक मंडल को प्रभावित करने की कोशिश की। इसी तरह मानसी ने तेरे मासूम सवालों से परेशान हूं, की दमदार प्रस्तुति देकर खूब तालियां बटोरीं । मुस्कान ने ऊची-ऊची रिडियां पहाड़ी गीत पेश किया। रोहिनी ने लग जा गले, कनक ने धड़कने बेतहाशा तड़पने लगी की दमदार प्रस्तुति दी। सीमना ने पहाड़ी गीत  अम्मा पुछदी सांग पर दमदार प्रस्तुति दी। मंजुला शर्मा ने रंग और नूर की बारात किसे पेश करूं, अंशिका ने तू कितनी अच्छी है, भूमिका ने मस्त मस्त तेरे दो नयन, देवेश ने  जब याद आए बहुत याद आए, मेघा ने धुडू नचाया, दीपिका ने तेरे बिन नहीं लगदा जी पेश करके अपने अंदर छिपे कलाकार को उजागर किया। सुंदरनगर के ऑडिशन में कुल 141 प्रतिभागियों ने अपनी किस्मत को आजमाया, जिसमें से एक से एक बढ़कर प्रतिभागियों की प्रस्तुतियों को देख कर निर्णायक मंडल भी हैरान रह गया।

You might also like