देलग में पकड़ा उद्घोषित अपराधी

बिलासपुर—पुलिस की विशेष अन्वेषण शाखा ने बिलासपुर के देलग से एक उद्घोषित अपराधी पकड़ा है। हालांकि इस अपराधी को पकड़ने के लिए पुलिस ने प्रदेश के कई स्थानों पर तलाश की, लेकिन अब यह बिलासपुर मंे हत्थे चढ़ा है। पुलिस ने आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार पकड़े गए उद्घोषित अपराधी पर थाना बरमाणा में लापरवाही व तेजी से ट्रैक्टर चलाने का मुकदमा 28 जून, 2009 को दर्ज हुआ था। यह मामला रतन लाल निवासी नोग की शिकायत पर दर्ज हुआ था। पुलिस को दिए अपने बयान में रतन लाल ने कहा था कि वह 28 जून, 2009 को रात को अपने घर सोया हुआ था। रतन लाल के मुताबिक रात को करीब साढ़े 12 बजे उसे ग्राम पंचायत कुड्डी के प्रधान सुरेश कुमार का फोन आया और बताया कि नोग गांव के रामलाल का ट्रैक्टर देलग के समीप पलट गया है, जिस पर वह ट्रैक्टर पलटने की जगह पहुंचा तो देखा कि ट्रैक्टर सड़क से करीब 20 फुट नीचे पड़ा है। रतन लाल के मुताबिक ट्रैक्टर सीधा था, जबकि इसकी ट्राली पलटी हुई थी। इस दुर्घटना में विनोद कुमार को गंभीर चोट लगी थी तथा उसके सिर से खून बह रहा था तथा उसकी मृत्यु हो चुकी थी। इस ट्रैक्टर में गांव के ही चार पांच और लोग भी बैठे थे, जिनसे पता करने पर मालूम हुआ कि ट्रैक्टर को विनोद साहनी निवासी बिहार चला रहा था। पुलिस ने ट्रैक्टर चालक विनोद साहनी के खिलाफ थाना बरमाणा में मामला दर्ज कर मामला न्यायालय में चालान के लिए पेश किया। यहां पर ट्रैक्टर चालक विनोद साहनी को जमानत मिल गई। जमानत मिलने के बाद विनोद साहनी न्यायालय में पेशी पर हाजिर नहीं हुआ, जिस पर अदालत ने उसे 22 नवंबर, 2017 को उदघोषित अपराधी घोषित कर दिया। मामला पुलिस की विशेष अन्वेषण शाखा के पास पहुंचा, जिस पर पुलिस की विशेष अन्वेषण शाखा के प्रभारी दौलत राम, राकेश कुमार व राजकुमार ने विनोद साहनी को पकड़ने के लिए हरियाणा, बिहार व हिमाचल प्रदेश में जगह-जगह दबिश दी, लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिली। पुलिस की विशेष अन्वेषण शाखा ने अपने मुखबिर भी कायम किए थे। जिस पर विशेष अन्वेषण शाखा को सूचना मिली कि विनोद साहनी आजकल देलग में है। इस पर पुलिस की टीम ने देलग में दबिश देकर आरोपी को गिरफ्तार किया तथा आगामी कार्रवाई के लिए बरमाणा थाना पुलिस के हवाले कर दिया है।

You might also like