देश भर में छाया टांडा मेडिकल कालेज

टीएमसी—देश भर के शीर्ष मेडिकल कालेजांे में हिमाचल प्रदेश के डा. राजंेद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल टांडा ने पहाड़ी राज्य की जनता को प्रदान की जा रही स्वास्थ्य सुविधाआंे तथा प्रशिक्षु चिकित्सकांे को प्रदान की जाने वाली व्यवस्थाआंे के चलते अपना नाम दर्ज करवाया है। भारत वर्ष मंे 49 मेडिकल कालेजांे को बेहतर सुविधाआंे के चलते चिन्हित किया गया है। इसमंे पहले स्थान पर देश की राजधानी दिल्ली मंे स्थित एम्स को पहला स्थान प्राप्त हुआ है। वहीं, डा. राजंेद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल टांडा ने भी शीर्ष मेडिकल कालेजांे मंे 35वां स्थान पाया है। इंडिया टुडे पत्रिका द्वारा करवाए गए सर्वेक्षण में टांडा को देश भर मंे शीर्ष मेडिकल कालेजांे मंे आंका गया है। टांडा मेडिकल कालेज के पिं्रसीपल डा. भानू अवस्थी ने बताया कि टांडा अस्पताल मंंे उपलब्ध व्यवस्थाआंे तथा मरीजांे को प्रदान की जा रही सुविधाआंे के आंकलन को पहली बार इस सर्वेक्षण के लिए टांडा प्रशासन द्वारा आवेदन किया गया था। इसमें सर्वेक्षण करने वाली टीम द्वारा सात बिंदुआंे को लेकर सर्वे किया जाता है। इसमें मेडिकल कालेज के इन्फ्रास्ट्रक्चर, अकादमिक एक्सीलंेस तथा गवर्नेंस की व्यवस्थाआंे को जांचा जाता है। इन सभी बिंदुआंे पर एम्स दिल्ली ने प्रथम स्थान हासिल किया है। इसके अलावा सर्वेक्षण मंे सीएमसी वेलोर दूसरे तथा पुणे का एएफएमसी तीसरे स्थान पर रहा है। डा. राजंेद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल टांडा ने इस सूची मंे 35वां रैंक प्राप्त किया है। डा. भानू अवस्थी ने टांडा मेडिकल कालेज एवं अस्पताल टांडा की इस उपलब्धि का श्रेय संकाय के निरंतर प्रयासों को दिया है। उन्हांेने कहा कि प्रदेश सरकार से भी संस्थान को निरंतर मिलने वाले सहयोग के चलते टांडा मेडिकल कालेज देश के बेहतरीन कालेजांे मंे अपना नाम दर्ज करवाने में सफल हो रहा है। उन्हांेने कहा कि प्रदेश सरकार ने भी सर्वेक्षणांे की देखरेख के लिए कालेज अधिकारियों को एक रैंकिंग समिति गठित करने का निर्देश दिया था। डा. अवस्थी ने रैंकिंग समिति के चेयरमैन तथा उनकी टीम को भी इस उपलब्धि के लिए बधाई दी है।

You might also like