दोषियों की गिरफ्तारी पर धरना

फरीदकोट – पंजाब के फरीदकोट में नौजवान जसपाल सिंह को आत्महत्या के लिए उकसाने वाले दो अन्य पुलिस कर्मियों की तत्काल गिरफ्तारी तथा उनके खिलाफ मामला किए जाने को लेकर ग्रामीणों का धरना तीसरे दिन जारी रहा ।  मृतक जसपाल (22) के भाई अमन ने प्रदर्शकारियों के बीच अनिश्चितकालीन धरने की चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक उसके भाई की मौत तथा शव को ठिकाने लगाने के लिए जिम्मेदार पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता, तब तक धरना उठाने का सवाल ही नहीं है । हालांकि जिला पुलिस ने सीआईए स्टाफ के दो कांस्टेबलों को सीआईए इंस्पेक्टर नरिंदर सिंह की मदद करने के कथित आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। युवक जसपाल ने गत 19 मई को पुलिस हिरासत में आत्महत्या कर ली थी। इंस्पेक्टर नरिंदर सिंह ने दबाव में आकर गत रविवार को आत्महत्या कर ली थी। रत्तारोड़ी गांव के निवासियों ने इस घटना के विरोध में तीन दिन पहले धरना शुरू कर दिया और वे युवक को मौत के लिए उकसाने के लिए जिम्मेदार अन्य पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। पुलिस के अनुसार युवक का शव इंदिरा गांधी नहर में फेंक दिया गया। शव की तलाश के लिए प्राइवेट गोताखारों की मदद ली गई । अमन ने कहा कि किसी भी हालत में शव उन्हें सौंपा जाए।  जब तक शव परिवार को नहीं सौंपा जाता, तब तक उनका धरना जारी रहेगा। उसने जसपाल की आत्महत्या के मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। गिरफ्तार किए गए कांस्टेबलों में दर्शन सिंह तथा सुखमंदर सिंह है। पुलिस ने बताया कि महाराष्ट्र के नांदेड के लिए पुलिस टीम भेजी है, जो अभियुक्त रंधीर सिंह की तलाश में गई है, जिसकी वजह से पुलिस ने युवक को पकड़ा था ।

You might also like