दौलत सिंह पार्क में सजी पेंटिंग प्रतियोगिता

शिमला—उपायुक्त शिमला राजेश्वर गोयल ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय शिमला ग्राीष्मोत्सव की कड़ी के रूप में दौलत सिंह पार्क में दो दिवसीय अंतरविद्यालय स्थलीय चित्रकला की कनिष्ठ वर्ग प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। राजेश्वर गोयल ने इस अवसर पर कहा कि अंतरराष्ट्रीय शिमला ग्राीष्मोत्सव का मुख्य उद्देश्य पर्यटन को बढ़ावा देना एवं देश और प्रदेश की समृद्ध संस्कृति को जन-जन तक पहुंचाना है। उपायुक्त ने कहा कि इस उत्सव के माध्यम से उभरती प्रतिभाओं को आगे बढ़ने का मंच भी प्रदान किया जाता है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय शिमला ग्रीष्मोत्सव में विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित करवाने से समूचे क्षेत्र की प्रतिभाओं को स्वस्थ प्रतिस्पर्धात्मक माहौल में अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर मिलता है। उपायुक्त ने प्रतियोगिता के लिए उपस्थित छात्रों से आग्रह किया कि वे पढ़ाई के साथ-साथ विभिन्न रचनात्मक कार्यों में भाग लें। उन्होंने कहा कि सभी में कुछ न कुछ प्रतिभा होती है और उचित प्रोत्साहन एवं नियमित अभ्यास से प्रतिभा विश्व पटल पर अपनी पहचान बना सकती है। प्रतियोगिता के प्रथम दिवस शिमला एवं आसपास के 20 विद्यालयों के 7वीं से 9वीं कक्षा के 40 विद्यार्थियों ने भाग लिया। प्रतियोगिता के दूसरे दिन 28 मई वरिष्ठ वर्ग में 20 विभिन्न विद्यालयों के 10वीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थी भाग लेंगे। चित्रकला प्रतियोगिता में चित्रण के लिए पर्यावरण, स्वच्छ शिमला तथा अंतरराष्ट्रीय शिमला ग्रीष्मोत्सव विषय दिए गए थे। भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग के कॉमर्शियल आर्टिस्ट प्रीतम पाल शर्मा, हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के सहायक प्राध्यापक बलविंद्र कांगड़ी और व्यावसायिक कलाकार दिनेश अत्री प्रतियोगिता में निर्णायक मंडल के रूप में उपस्थित रहे। कनिष्ठ वर्ग में दयानंद पब्लिक स्कूल शिमला की वंशिका प्रथम, ताराहाल पब्लिक स्कूल की विशुधा सूद द्वितीय और डीएवी लक्कड़ बाजार की साक्षी शर्मा तृतीय स्थान पर रही। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला संजौली के सुनील कुमार को सांत्वना पुरस्कार के लिए चुना गया। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी कानून एवं व्यवस्था प्रभा राजीव, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी प्रोटोकोल नरेश ठाकुर, जिला भाषा अधिकारी त्रिलोक सूर्यवंशी, जिला पर्यटन अधिकारी सुरेंद्र जस्टा, अध्यापक तथा प्रतिभागी उपस्थित रहे।

You might also like