धर्मशाला में उपचुनाव और इन्वेस्टर मीट भी

50 देशों को निमंत्रण भेजेगा हिमाचल; जर्मनी, यूएई, नीदरलैंड्स और मुंबई जाएगी टीम

शिमला – हिमाचल प्रदेश में होने वाली इन्वेस्टर मीट पर सभी की नजरें टिकी हैं। खुद जयराम सरकार इसकी सफलता को लेकर बेहद संजीदा है। सरकार की संजीदगी इसलिए भी बढ़ गई है, क्योंकि धर्मशाला में यह मीट होनी है और वहां पर विधानसभा का उपचुनाव भी होगा। ऐसे में सरकार इसे और अधिक गंभीरता से ले रही है। सूत्रों के अनुसार इन्वेस्टर मीट के लिए जहां देश की बड़ी कंपनियों को न्योता भेजा गया है वहीं 50 देशों के प्रतिनिधियों को यहां बुलाया गया है। इन सभी को निमंत्रण पत्र भेजे गए हैं। कई देशों के राजदूतों के साथ अधिकारियों की बैठकें हो चुकी हैं। कुल मिलाकर यहां पर इन्वेस्टमेंट लाने के लिए सरकार ने काफी ज्यादा प्रयास कर लिए हैं, जिन्हें अब सिरे चढ़ाने का समय आ गया है। इसके लिए खुद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर  दूसरे देशों में जा रहे हैं, वहीं मुंबई में भी रोड शो होगा। जर्मनी में 10 से 12 जून तक रोड शो किया जाएगा, वहीं इसके बाद नीदरलैंड्स में 12 से 15 जून तक रोड शो होगा। यहां निवेशकों से मिलकर बातचीत होगी, वहीं 23 से 26 जून तक यूएई में रोड शो होगा। इसके बाद सरकार मुंबई महानगर में भी पहुंचेगी। मुख्यमंत्री, उद्योग मंत्री विक्रम सिंह सहित आठ अधिकारियों की टीम विदेश यात्रा करेगी। वहां पर विदेशी कंपनियों को हिमाचल में निवेश का प्रस्ताव दिया जाएगा।

केंद्रीय मंत्रालय से मंजूरी

प्रदेश सरकार ने विदेश यात्राओं को लेकर केंद्र से मंजूरी मांगी थी। मुख्यमंत्री समेत उनकी पूरी टीम को यात्रा पर जाने के लिए मिनिस्ट्री ऑफ इकोनोमिक अफेयर से मंजूरी मिल गई है। अब पासपोर्ट व वीजा आदि का काम शुरू हो गया है।

चार विभाग आज देंगे प्रेजेंटेशन

इन्वेस्टर मीट से पहले यहां अलग-अलग विभागों ने अपनी रणनीति बनाई है। इंडस्ट्रियल पालिसी तैयार हो चुकी है, जिसके बाद चार अन्य विभागों पर्यटन, आयुर्वेद, सूचना प्रोद्योगिकी व परिवहन महकमे ने भी अपनी पालिसियां बनाई हैं। परिवहन विभाग ने यहां पर इलेक्ट्रिक व्हीकल को लेकर एक अलग पॉलिसी बनाई है, जिसमें भी निवेश की बड़ी संभावनाएं हैं।

You might also like