धुंधन के जंगल में भड़की आग

दाड़लाघाट  – सब उपमंडल के धुंधन के जंगल में शुक्रवार के दिन अचानक आग लग गई, जिससे जंगलात का तो नुकसान हुआ ही साथ ही लोगों की घासनियां भी जलकर राख हो गई। जंगल में लगी आग ने इतना रौद्र रूप दिखाया कि वह धुंधन के जंगलों को जलाकर साथ लगते बटेड़ गांव में लोगों के घरों तक पहुंच गई। ग्राम पंचायत हनुमान बड़ोग के प्रधान कृष्ण सिंह कंवर ने बताया कि जब आग बटेड़ गांव के नजदीक पहुंची तो उन्होंने उपमंडल अधिकारी अर्की को इस घटना के बारे में सूचित किया और सहायता की गुहार लगाई, उन्होंने तुरंत दमकल विभाग की गाडि़यां मौके पर भेजी लेकिन दमकल गाड़ी बड़ी थी, इसलिए वह अपने गंतव्य तक नहीं पहुंचाई जा सकी। पंचायत प्रधान ने बताया कि अमरा देवी, गीता, विमला देवी, यशपाल और स्वयं पंचायत प्रधान की घासनियों का घास जलकर राख हो गया व कई पेड़ जल गए। जब दमकल विभाग की गाड़ी गांव तक नहीं पहुंच सकी तो गांव के लोगों ने, गौ पुत्र सेना के स्वयंसेवकों ने दमकल विभाग वाले कर्मचारियों के साथ मिलकर स्वयं ही आग पर काबू पाया। उधर, धुंधन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के पास लगी आग को समय रहते ही मौके पर स्वस्थ्य विभाग के कर्मचारी, स्थानीय लोग व गौ पुत्र सेना के प्रदेश महासचिव राजेंद्र ठाकुर व दुनीचंद ठाकुर ने मिलकर आग को काबू कर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को सुरक्षित कर दिया। गौपुत्र सेना ने दमकल विभाग की मदद कर हिमाचल प्रदेश के जंगल में अन्य छोटे बड़े जीव जंतुओं को बचाने का काम किया और आठ बजे तक दमकल विभाग के साथ सहयोग में जुटे रहे, ताकि कोई भयानक हादसा भी न हो सके ओर जीव जंतु भी अग्नि की चपेट में न आएं। गौपुत्र सेना हिमाचल प्रदेश अध्यक्ष गौपुत्र कमल किशोर कपिल, महासचिव राजेंद्र ठाकुर, किरण, जितेंद्र व अन्य सदस्यों को जैसे ही सामाजिक गतिविधियों के विषयों या घटनाओं का पता चलता है, तो गौपुत्र सेना के स्वयं सेवक अपना कार्य छोड़कर मौके पर पहुंच जाते हैं ओर सेवा के कार्य में जुट जाते है।

You might also like