नई सरकार में नहीं बदलेगा सुषमा-निर्मला और राजनाथ का रोल!

फिर विदेश मंत्री बनेंगी सुषमा स्वराज!

नरेंद्र मोदी अब से कुछ देर में प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. उनके साथ-साथ पूरी कैबिनेट भी राष्ट्रपति भवन में शपथ ग्रहण करेगी. समारोह से पहले जो नाम सामने आए हैं, उससे तय है कि एक बार फिर मोदी की कोर कमेटी में वही पुराने चेहरे हो सकते हैं. राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, निर्मला सीतारमण होंगे ही अरुण जेटली की जगह अमित शाह होंगे. इन मजबूत नेताओं का रोल भी पिछली सरकार के जैसा ही तय माना जा रहा है.

अमित शाह संभालेंगे वित्त मतलब राजनाथ ही होंगे गृह मंत्री!

सूत्रों की मानें तो राजनाथ सिंह एक बार फिर देश के गृह मंत्री बनेंगे. यानी पिछली सरकार की तरह ही इस बार भी उनका रोल भी समान ही होगा. राजनाथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भरोसेमंद नेता में से एक हैं और PM ने एक बार फिर उनपर विश्वास जताया है. अब अगर अमित शाह सरकार में मंत्रिपद संभालते हैं और वित्त मंत्रालय उनके खाते में जाता है तो राजनाथ का गृहमंत्री बनना तय है.

फिर सुषमा स्वराज बनेंगी विदेश मंत्री

पिछले पांच साल में सुषमा स्वराज ने बतौर विदेश मंत्री काफी सुर्खियां बटोरी हैं. ट्विटर के जरिए उन्होंने कूटनीति के तरीके को बदल दिया. इस बार भले ही उन्होंने चुनाव नहीं लड़ा हो लेकिन नरेंद्र मोदी उन्हें एक बार अपने मंत्रिमंडल में जगह देने को तैयार हैं. सुषमा स्वराज को इस बार राज्यसभा से संसद में भेजा जा सकता है.

फिर देश की रक्षा करेंगी निर्मला!

निर्मला सीतारमण को रक्षा मंत्री बना पिछली बार नरेंद्र मोदी हर किसी की चौंका दिया था. अब एक बार फिर उन्हें यही जिम्मेदारी दी जा सकती है. पिछले कार्यकाल में राफेल विमान सौदे को लेकर काफी विवाद रहा था, लेकिन निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों का डटकर सामना किया.

कैसा रहेगा सुरक्षा समिति का फैसला?

देश की सुरक्षा से जुड़े सभी फैसले लेनी वाली कैबिनेट सुरक्षा समिति की तस्वीर भी इसी के साथ साफ हो गई है. अरुण जेटली की जगह इस बार अमित शाह की CCS में एंट्री होनी तय है तो उनके अलावा सुषमा स्वराज, निर्मला सीतारमण और राजनाथ सिंह इस कमेटी में बरकरार रह सकते हैं. बता दें कि ये वही कमेटी है जिसने बालाकोट एयरस्ट्राइक, सर्जिकल स्ट्राइक जैसे अहम फैसले लिए थे.

You might also like