नशा माफिया पर पुलिस की सर्जिकल स्ट्राइक

बिलासपुर—लोकसभा चुनाव के दौरान बिलासपुर पुलिस ने जिला भर में कार्रवाई करते हुए 1072 लीटर अवैध शराब पकड़ी है। इसके अलावा कोट क्षेत्र में 16,500 लीटर अवैध शराब नष्ट भी की है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बिलासपुर अशोक कुमार ने बताया कि चुनाव के दौरान अवैध शराब पर शिकंजा कसने के लिए विशेष टीमें गठित की गई थीं। इन टीमों ने विभिन्न जगहों पर दबिश देकर यह कार्रवाई की है। इसके अलावा पुलिस को चिट्टा व अफीम की खेप पकड़ने पर कामयाबी मिली है। एसएसपी अशोक कुमार ने बताया कि चुनाव के दौरान विभाग ने 210 ग्राम चिट्टा और 266 ग्राम अफीम बरामद की है। इसके अलावा 420 नशे के कैप्शूल और 11 किलो ग्राम 400 ग्राम भुक्की भी पकड़ी है। वहीं नशे के लिए इस्तेमाल लाई जाने वाली प्रतिबंधित दवाई कोडीन की 100 बोतलें भी कब्जे में ली हंै। उन्होंने बताया कि पकड़ी गई 1,072 लीटर अवैध शराब में 890 लीटर शराब देशी और 175 लीटर अंग्रेजी शराब है। इसके अलावा 7.8 लीटर बीयर भी पकड़ी गई है। बहरहाल चुनाव के लिए पुलिस विभाग द्वारा नशे पर की गई सर्जिकल स्ट्राइक ने शराब सहित नशा माफिया की नींद उड़ाए रखी। बता दंे कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर बिलासपुर पुलिस ने अवैध शराब की रोकथाम के लिए टीमें गठित की थीं। ये टीमें बार्डर एरिया पर चैकिंग कर गतिविधियों पर नजर रख रही थीं। इसके अलावा गांव के रास्ते बिलासपरु जिला से जुड़ने वाले स्थानों पर भी टीमों ने नजर बनाए रखी थी। एसएसपी अशोक ने बताया कि आचार संहिता के लगते ही टीमों ने अपना कार्य शुरू कर दिया है। उल्लेखनीय है कि चुनाव में वोटरों को अपने पाले में करने के लिए प्रत्याशी या उनके समर्थक बड़ी मात्रा में शराब का वितरण करवाते हैं। ऐसे में पुलिस की टीमों ने कच्ची और जहरीली शराब के साथ गैर सूबों से आने वाली शराब पर भी नजर बनाए रखी। इसके अलावा गाडि़यों की भी चेकिंग की गई। जिला में शराब बनाने वाले अड्डों को भी खंगाला गया। चुनाव के दौरान शराब के साथ पुलिस ने दूसरे नशे पर भी शिकंजा कस बड़ी कामयाबी हासिल की।

You might also like