नशीली दवाओं की खेप पकड़ी

गगरेट—नशे के लिए प्रयोग की जा रही दवाओं की अनाधिकृत तरीके से की जा रही बिक्री के विरुद्ध जिला पुलिस द्वारा छेड़े गए विशेष अभियान के तहत गुरुवार को जिला पुलिस की विशेष जांच शाखा व ड्रग इंस्पेक्टर की संयुक्त कार्रवाई में विकास खंड गगरेट के ओयल गांव में स्थित एक मेडिकल स्टोर से उक्त टीम ने नशे के लिए प्रयोग की जाने वाली दवाओं की अनाधिकृत तरीके से रखी हुई खेप बरामद की है। विशेष जांच शाखा ने उक्त मामला ड्रग इंस्पेक्टर के सुपुर्द कर दिए जाने से मेडिकल स्टोर के संचालक के विरुद्ध ड्रग एंड कास्मेटिक एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी गई है। जिला पुलिस की विशेष जांच शाखा को गुप्त सूचनाएं मिल रही थीं कि ओयल स्थित मेडिकल स्टोर पर नशे के लिए प्रयोग की जाने वाली दवाओं की अनाधिकृत तरीके से धड़ल्ले से बिक्री की जा रही है। इस सूचना के आधार पर विशेष जांच शाखा के इंचार्ज सर्वजीत सिंह व अन्य जवानों के साथ ड्रग इंस्पेक्टर को साथ लेकर एक टीम का गठन किया गया। टीम ने जब उक्त मेडिकल स्टोर पर दबिश दी तो वहां पर ट्रामाडोल दवा के 288 कैप्सूल बरामद हुए। ट्रामाडोल शेड्यूल एच-वन में आने वाली दवा है। जिसे मेडिकल स्टोर पर रखने के लिए भी इसका सारा रिकार्ड रजिस्ट्रर पर रखना होता है और इसकी बिक्री भी बिना चिकित्सकीय परामर्श के नहीं की जा सकती। इसकी बिक्री करने पर जिसे बेची गई है उसका रिकार्ड भी रखना पड़ता है लेकिन मेडिकल स्टोर पर इस दवा का स्टाक रजिस्ट्रर में भी कोई रिकार्ड नहीं मिला। इस दवा का प्रयोग कुछ युवा नशे के लिए करते हैं। मामला ड्रग एंड कास्मेटिक्स एक्ट के तहत पाए जाने के चलते एसआईयू ने मामला ड्रग इंस्पेक्टर के सुपुर्द कर दिया। डीएसपी मनोज जंबाल ने बताया कि इस मामले में आगामी कार्रवाई ड्रग इंस्पेक्टर ही करेंगे।

You might also like