नशे को न, जिंदगी को कहें हां

पांवटा साहिब—‘दिव्य हिमाचल’  के सौजन्य से पांवटा साहिब में हर साल आयोजित पोस्टर मेकिंग कंपीटीशन में पांवटा साहिब के स्कूली बच्चों द्वारा अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन जारी है। आजकल नगर के करीब एक दर्जन से अधिक सरकारी और निजी स्कूलों में ‘से नो टू ड्रग्स’ विषय पर पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता चल रही है। बच्चे इस प्रतियोगिता में अपने हुनर से पोस्टर बनाकर नशे पर चोट कर रहे हंै। इवेंट में भाग लेने वाले स्कूलों में से शनिवार को माजरा के डिवाइन विज्डम हाई स्कूल, पीपलीवाला के सत्य श्री पब्लिक स्कूल और कन्या पाठशाला पांवटा की छात्राओं ने अपने-अपने स्कूल में आयोजित इस प्रतियोगिता में भाग लिया और पोस्टर बनाने में अपनी प्रतिभा दिखाई। साथ ही नशे के दुष्प्रभाव इन पोस्टरों पर उकेरे, जिनके माध्यम से समाज को संदेश दिया जाएगा कि नशा एक घातक बीमारी है, जिससे दूर रहना चाहिए। इस प्रतियोगिता में पांवटा साहिब के सरकारी स्कूलों में कन्या पाठशाला पांवटा साहिब व छात्र पाठशाला तारुवाला पांवटा साहिब सहित निजी स्कूलों में गुरु नानक मिशन पब्लिक स्कूल शुभखेड़ा, दि स्कॉलर्स होम स्कूल जामनीवाला, डीएवी सिरमौर पब्लिक स्कूल पांवटा, नेशनल पब्लिक स्कूल जामनीवाला पांवटा, बीकेडी सीनियर सेकेंडरी पब्लिक स्कूल पांवटा, बीबीजीत कौर स्मारक वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पांवटा, विद्यापीठ सीनियर सेकेंडरी पब्लिक स्कूल पांवटा, दुग्गल कैरियर स्कूल पांवटा साहिब, सत्य श्री पब्लिक स्कूल पीपलीवाला, सरस्वती विद्या मंदिर पांवटा, दून वैली पब्लिक स्कूल भांटावाली, डिवाइन विज्डम स्कूल माजरा और राजकीय उच्च विद्यालय दिघाली आदि स्कूल भाग लेकर पांवटा में नशे के दुष्प्रभाव का संदेश दे रहे हैं। पहले सत्र में हर स्कूल अपने स्तर पर 30 बच्चों के मध्य यह प्रतियोगिता करवा रहा है, जिसमें से सभी स्कूल अपने स्तर पर बेस्ट थ्री निकालेगा। इसके बाद इस जागरूकता कार्यक्रम का मुख्य आयोजन किया जाएगा, जिसमें बच्चों को नशे के दुष्परिणामों के बारे में विशेष जानकारी दी जाएगी और पारितोषिक वितरण समारोह आयोजित किया जाएगा, जिसमें अव्वल बच्चों को नकद और स्मृतिचिन्ह से सम्मानित किया ।

You might also like