नशे से युवा पीढ़ी को बचाएं

सोलन —पुलिस महानिदेशक सीता राम मरडी ने कहा है कि प्रदेश में कानून एवं व्यवस्था अत्यंत संतोषजनक रही है तथा पिछले वर्ष में पंजीकृत अधिकतर अभियोगांे को सुलझा लिया गया है। पुलिस महानिदेशक मंगलवार को उपायुक्त कार्यालय के सम्मेलन कक्ष में किन्नौर, शिमला, सोलन, बद्दी तथा सिरमौर जिला के पुलिस अधिकारियों के साथ आयोजित त्रैमासिक बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में जिला के पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, पुलिस उप अधीक्षक तथा थाना प्रभारियों ने भाग लिया। उन्होंने कहा कि इस वर्ष अप्रैल तक 6,208 अभियोग पंजीकृत हुए हैं, जबकि वर्ष 2018 में इस अवधि में 6,264 अभियोग पंजीकृत हुए थे। उन्होंने कहा कि आपातकालीन सूचनाओं को 112 नंबर में प्रेषित करने के उद्देश्य से केंद्र सरकार द्वारा इस प्रणाली का शुभारंभ किया गया है। इसके साथ ही हिमाचल प्रदेश इस प्रणाली को लागू करने वाला भारत का पहला राज्य बन गया है। उन्होंने सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिए कि पंचायत स्तर पर नशा निवारण स्तर पर कमेटियों का गठन करें, ताकि ग्राम स्तर पर युवाओं को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में अवगत करवाया जा सके। उन्होंने कहा कि पंचायत में प्रधान व वार्ड सदस्य की नेतृत्व में कमेटी बनाई जाए। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 में 30 अप्रैल 2019 तक एनडीपीएस एक्ट के अंतर्गत 462 अभियोग पंजीकृत किए गए हंै, जिनमें 623 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें एक विदेशी नागरिक भी शामिल है, जबकि इस शीर्ष में वर्ष 2018 की तुलनात्मक अवधि में 454 अभियोग पंजीकृत किए गए हैं। उन्होंने बताया कि राज्य में नशाखोरी को रोकने तथा उसकी मांग व आपूर्ति को कम करने के कई कदम उठाए गए हैं। भांग व अफीम की खेती को नष्ट करने के लिए अभियान चलाए जा रहे हंै।  पुलिस महानिदेशक ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा आरक्षियों को मोटर वाहन अधिनियम के अंतर्गत उल्लंघनकर्ताओं का चालान करने के लिए प्राधिकृत किया गया है। इसके फलस्वरूप इस निर्णय के लागू होने के पश्चात अभी तक आरक्षियों द्वारा मोटर वाहन अधिनियम के अंतर्गत 41,612 चालान किए जा चुके है।  उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश पुलिस द्वारा पुलिस कर्मचारियों व पुलिस पेंशन धारकों के कल्याण के लिए बाजार से सस्ती दरों पर उपभोग्य व अन्य घरेलू सामान उपलब्ध करवाने के लिए 16 कैंटीन खोली गई हंै। इन कैंटीनों में अभी तक लगभग तीन करोड़ 34 लाख का विक्रय हुआ है। इसके अतिरिक्त तीन अन्य कैंटीनें जिला किन्नौर, लाहुल एवं स्पीति व छठी भारतीय आरक्षित वाहिनी धौलाकुंआ में खोलना प्रस्तावित है। इस अवसर पर अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस कानून एवं व्यवस्था एसबी नेगी, आईजी हिमांशु मिश्रा, आईजी पुनीता भारद्वाज, डीआईजी आसिफ जलाल, आईजी क्राइम एंड सीआईडी दिनेश यादव, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सोलन मधुसूदन शर्मा, पुलिस अधीक्षक शिमला ओपी जम्वाल, पुलिस अधीक्षक बद्दी रोहित मालपानी, पुलिस अधीक्षक सिरमौर व अजय शर्मा सहित पुलिस विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

You might also like