नारकंडा में डोम देवता शरमला का स्वागत

नारकंडा -तहसील ठियोग की प्रसिद्व देवठी शरमला के आराध्य देव श्री डोम देवता महाराज शमुखर से शुरू हुई जातर के बाद अपने कल्याणों को सुख-समृद्धि की आशीष देने के लिये अपने क्षेत्र के भ्रमण पर निकले हुए हंै। डोम देवता महाराज रामपुर बुशहर, बड़ागांव, छबीशी, कुमारसैन, कोटगढ़, सिंहल का बीस दिवसीय दौरा पूरा कर गुरुवार दोपहर बाद शानो शौकत से ढोल-नगाड़ों व कल्याणों संग नारकंडा पहुंचे। नारकंडा में डोगरा मंडी के पास देवता महाराज के डोगरा खानदानों द्वारा श्री डोम देवता शरमला का भव्य स्वागत किया गया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में क्षेत्रवासियों ने डोम देवता के दर्शन कर मन की मुरादें मांगी और खुशहाली का आशीर्वाद प्राप्त किया। डोम देवता के गुर देंवा राजेंद्र वर्मा तथा डोम देवता के खानदान व नारकंडा के आढ़ती लालचंद डोगरा ने बताया कि अपने बीस दिवसीय दौरे की अंतिम जातर के लिये देवता महाराज नारकंडा के कनलोट पहुंचे हैं। वहां पर जातर नाचने के बाद दूसरे दिन शरमला को प्रस्थान करेगे। इसके बाद शरमला में एक सप्ताह का विश्राम कर देवता महाराज उबादेश कोटखाई की जातरों के लिए पुन अपने कारदारों व सात खूदों के साथ रवाना हो जाएंगे। इस अवसर पर शरमला मंदिर से डोम देवता के गुर देंवा राजेद्र वर्मा, भंडारी ईश्वरदास डोगरा, कारदार दुनीचंद, प्रधान प्यारे लाल डोगरा, डोम देवता के साथ आए सात खुंदों के सैकड़ों लोगों सहित क्षेत्र की स्थानीय जनता मौजूद रही।

You might also like