नाल की महिला ने 108 में दिया बेटी को जन्म

स्वारघाट—बेशक प्राथमिक चिकित्सा केंद्र स्वारघाट को कंपनी द्वारा करीब सात महीने बाद खटारा एंबुलेंस दी हो, लेकिन 108 कर्मचारियों के साहस एवं कार्यकुशलता में कोई कमी नहीं आई है। एंबुलेंस मिलते ही 108 कर्मियों ने लोगों को घर-द्वार स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाना शुरू कर दिया है। अपनी कार्यकुशलता के दम पर 108 कर्मियों ने रविवार को एंबुलेंस में ही उपमंडल स्वारघाट की ग्राम पंचायत तन्बौल के गांव नाल की महिला हलीमा देवी की सफल डिलीवरी करवाई है और डिलीवरी के बाद जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित हैं। जानकारी के अनुसार नाल गांव की महिला हलीमा देवी पत्नी सुनील कुमार गर्भवती थी। रविवार सुबह हलीमा देवी की अचानक तबियत खराब हो गई और उसे तेज प्रसव पीड़ा होने लगी। यह देख उसके परिजनों ने 108 पर फोन कर अस्पताल जाने के लिए 108 एंबुलेंस की मांग की। 108 की तरफ  से पीएचसी स्वारघाट से 108 चालक कमलजीत व ईएमटी कमल ठाकुर करीब साढ़े दस बजे एंबुलेंस सहित नाल गांव पहुंचे और गर्भवती महिला को 108 वाहन में ले जाने लगे। अभी एंबुलेंस करीब आधा किलोमीटर दूर ही गई थी कि हलीमा देवी को बहुत तेज प्रसव पीड़ा होने लगी। 108 चालक कमलजीत ने महिला की हालत को देखकर तुरंत वाहन को सड़क के किनारे पार्क किया और ईएमटी कमल ठाकुर ने अपनी कार्य दक्षता से महिला की सफल डिलीवरी करवा दी। डिलीवरी के बाद जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित है। महिला हलीमा देवी ने सुबह 10 बजकर 57 मिनट पर स्वस्थ लड़की को जन्म दिया है। हलीमा के परिजनों ने  सफल डिलीवरी के लिए एंबुलेंस कर्मियों का आभार व धन्यवाद भी प्रकट किया है।

You might also like