नूरपुर शहर में डोर-टू-डोर उठेगा कूड़ा

नूरपुर -नूरपुर शहर में नगर परिषद नूरपुर द्वारा घर-घर से कूड़ा- कचरा उठाने का अभियान शुरू कर दिया है, जिससे लोगों को घर द्वार कचरा उठाने की सुविधा का फायदा मिलना शुरू हो गया है। अगर जन सहयोग से यह अभियान सिरे चढ़ा तो शहर की खूबसूरती में और निखार आएगा। नूरपुर शहर में सफाई व्यवस्था को लेकर नगर परिषद प्रयासरत थी और अब नगर परिषद ने शहर को स्वच्छ, सुंदर व कूड़ा-कचरा मुक्त बनाने के लिए गंभीरता से प्रयास शुरू कर दिए है, ताकि यह स्वच्छ भारत अभियान के तहत और खूबसूरत बने। नगर परिषद नूरपुर ने शहर में नौ वार्डों में स्थित लगभग 2260 घरों व 740 दुकानों से कूड़ा-कचरा उठाने के लिए अभियान शुरू कर दिया है, जिसमें शहर में चार गाडि़यों द्वारा 15 व्यक्ति घर-घर से कूड़ा-कचरा उठाएंगे और इसे डंपिंग साइट तक पहुंचाएंगे। यहां इस कूड़े-कचरे को सही ढंग से डिस्पोज किया जाएगा।  नगर परिषद द्वारा आने वाले समय मे इस सुविधा को और सुदृढ़ किया जाएगा। इसके अलावा शहर की लगभग 9800  से ज्यादा आबादी है और शहर में एक सिविल अस्पताल व कई विभागों के महत्त्वपूर्ण कार्यालय है। यह प्रतिदिन लोग अपने कार्यों के लिए आते है, जिस कारण शहर में कूड़ा-कचरा आदि बढ़ाने का दबाव बढ़ जाता है। इस सुविधा के तहत प्रत्येक घर से 50 रुपए, बीपीएल परिवार से 30 रुपए व दुकान से 100 रुपए प्रति माह यूजर चार्जस लिए जाएंगे। इसमें नगर परिषद नूरपुर के कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि लोग अपने घरों का गीला कचरा व सूखा कचरा अलग-अलग दें, ताकि उसे सही तरीके से डिस्पोज किया जा सके। उन्होंने कहा कि जो लोग इस नियम की अलवेहना करेंगे, उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी व एनजीटी नैशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेशानुसार 250 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना किया जाएगा। नगर परिषद नूरपुर के कार्यकारी अधिकारी आरएस वर्मा ने शहर वासियों से सहयोग की अपील की है ताकि शहर को साफ.सुथरा व सुंदर बनाया जा सके।

You might also like