नेता या अफसर, किसी को नहीं डर!

चुनाव प्रचार के दौरान सरेआम तोड़े जा रहे नियम, आचार संहिता को ठेंगा

धर्मशाला    —जनता को कायदे व नियम बताने वाले नेता चुनाव प्रचार में इतने मशगूल हैं कि स्वयं नियमों-कानूनों की कोई परवाह नहीं कर रहे हैं। आचार संहिता की परवाह किए बगैर वे यह कहते हुए कि पहले भी ऐसे ही तो होता था, प्रचार कर रहे हैं। हालांकि अब जनता जागरूक हो गई है। नेता व अधिकारियों-कर्मचारियों की हर हरकत कैमरे में कैद हो रही है। बिगड़ी आदतों के चलते जो लोग इन बातों को नहीं समझ रहे, वे चुनाव आयोग के शिकंजे में फंस रहे हैं। यही वजह है कि कांगड़ा संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी पवन काजल, भाजपा प्रत्याशी किशन कपूर से लेकर कांगड़ा के उपायुक्त तक चुनाव आयोग की जांच की जद में हैं। ऐसा पहली बार देखने में आया है कि प्रमुख दलों के प्रत्याशी या विधायक-मंत्री से लेकर उपायुक्त तक चुनाव आयोग की जांच का सामना कर रहे हैं। इन सारी घटनाओं ने नेताओं व अधिकारियों की आंखें खोल दी हैं। अब तक आम जनता की परवाह किए बिना मनमाने ढंग से चुनाव प्रचार करने और कुछ भी प्रचार सामग्री छपवाकर जनता में बांट दिया जाता था, लेकिन इस बार ऐसा करने वालों के खिलाफ तुरंत इंक्वायरी हो रही है। पहले की तरह इस बार भी चुनावी मैदान में उतरे प्रत्याशियों ने अपने खर्चे अब तक  निर्वाचन कार्यालय को नहीं बताए हैं, जबकि पोस्टर, स्टिकर, होर्डिंग और जनसभाओं पर लाखों रुपए खर्च हो गए हैं। भाजपा-कांग्रेस ही नहीं, आजाद व अन्य प्रत्याशियों का भी यही हाल है। इसके चलते उन्हें नोटिस भेजे जा रहे हैं। नेता ही नहीं, अधिकारियों पर भी चुनाव आयोग का डंडा चल रहा है। अब एक वायरल वीडियो में चालक को धमकाने वाले अधिकारी पर कार्रवाई हुई है और उपायुक्त के कार्यालय में नियमों के खिलाफ कांग्रेस प्रत्याशी के नामांकन के दौरान निर्धारित संख्या से अधिक लोगों के आने पर जांच हो रही है। इसके लिए जांच अधिकारी एवं मंडलायुक्त विकास लाबरू धर्मशाला में पूछताछ कर पूरी रिपोर्ट तैयार कर ले गए हैं।

वर्दी के दुरुपयोग पर मामला दर्ज

आईटीबीपी की वर्दी पहन कर भाजपा के कार्यक्रम के दौरान पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने वाले ओम प्रकाश के खिलाफ भी चुनाव आयोग के निर्देश पर मामला दर्ज हो गया है। आईटीबीपी के एडिशनल  कमांडेंट ने सेना की वर्दी पहनकर भाजपा की सदस्यता ली थी। पुलिस ने वर्दी का दुरुपयोग करने के मामले में ओम प्रकाश के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

You might also like