नैनाटिक्कर में पारा 33 डिग्री के पार, गर्मी से सूखने लगे जलस्रोत

नैनाटिक्कर—नैनाटिक्कर तथा आसपास के क्षेत्र में लगातार पारे में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है । गौर हो कि इस वर्ष अभी तक निरंतर अंतराल के बाद बारिश होने से क्षेत्र में गर्मी का एहसास नहीं हुआ था, परंतु पिछले दो दिनों से क्षेत्र के तापमान में भारी वृद्धि देखने को मिली है और पारा 33 डिग्री के पार पहुंच गया है, जिस कारण लोग घरों से बाहर निकलने में भी गुरेज करने लगे हैं । बता दें कि नैनाटिक्कर क्षेत्र के ग्रामीण इलाके में बहुत से प्राकृतिक जलस्रोत बावडि़यां आदि हैं, जहां से ग्रामीण पीने के पानी की आपूर्ति करते हैं, परंतु पिछले दिनों से ,जहां शुष्क हवाओं से पानी का स्तर नीचे जाने लगा है । वहीं अब पिछले दो दिनों से तापमान मंे लगातार वृद्धि को देखकर लग रहा है कि जल्द ही बावडि़यां तथा प्राकृतिक जलस्रोत सूखने की कगार पर पहुंच जाएंगे । वहीं दूसरी ओर यदि दुकानदारों की बात करें तो बाजार में शीतल पेय की मांग लगातार बढ़ रही है तथा स्कूली बच्चों सहित आम जनमानस आइसक्रीम, कोल्ड ड्रिंक्स तथा गन्ने के जूस से खुद को ठंडक का एहसास दिलवाने में लगे हैं तथा दुकानदार अच्छा मुनाफा कोल्ड ड्रिंक तथा अन्य शीतल वस्तुओं द्वारा कमा रहे हैं । वहीं इसके विपरीत अगर किसानों की बात करें तो किसानों के खेतों में इस समय टमाटर, शिमला मिर्च तथा अन्य नकदी फसलें बहुतायत मात्रा में लगाई गई हंै तथा इस बेहाल कर देने वाली गर्मी का फसलों पर भी नकारात्मक असर देखने को मिल रहा है। पौधे मुरझाने लगे हैं । तथा कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि गर्मियां अपने पूरे यौवन पर हैं तथा लगातार तापमान में वृद्धि से आम जनमानस बेहाल होने लगा है ।

You might also like