नौणी चिन्मय विद्यालय में हब ऑफ लर्निंग कार्यक्रम

नौणी—चिन्मय विद्यालय नौणी में सीबीएसई द्वारा चलाए गए कार्यक्रम हब ऑफ लर्निंग की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में उच्च शिक्षा उपनिदेशक योगेंद्र मखैक ने मुख्यातिथि के रूप में शिरकत की। इनके साथ जिला विज्ञान सह आयोजक अमरीश व अधिकक्षक टिक्किम तथा मस्ताना भी मौजूद रहे। कार्यक्रम के आरंभ में मुख्यातिथि को विद्यालय निदेशक रवि दत्त गौर व प्रधानाचार्य शुभोजीत घोष द्वारा पुष्प गुच्छ व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इनके साथ, टीसी गर्ग निदेशक एसवीएन स्कूल कुनिहार, शबनम कुमारी प्रधानाचार्या न्यू ज्ञान धाम पब्लिक स्कूल घंसोट, रश्मि लता प्रधानाचार्या भोजिया विद्यापीठ बद्दी, उषा कौशिश आनंद स्कूल परवाणू व प्रधानाचार्या लॉरेटो एल्विस गुड शेफर्ड स्कूल, विनोद शर्मा प्रधानाचार्य बाल भारती स्कूल, मीरा शर्मा प्रधानाचार्या सेंट एंब्रोज स्कूल तथा अन्य स्कूलों के अध्यापक भी मौजूद रहे। स्कूलों में आपसी तालमेल बढ़ाने के उद्देश्य से सीबीएसई की ओर से हब ऑफ  लर्निंग प्रोग्राम की शुरुआत की गई है। इस बैठक का मुख्य एजेंडा कक्षा प्रबंधन व कक्षा में रचनात्मक शिक्षण द्वारा पढ़ाना रहा। इसके तहत स्कूल एक दूसरे की व्यवस्था से अवगत होंगे और दूसरे स्कूल में अच्छे ढंग से करवाई जा रही गतिविधियों को अपने स्कूलों में लागू करने का प्रयास करेंगे।॒बैठक में मुख्यातिथि उच्च शिक्षा उपनिदेशक योगेंद्र मखैक ने सभी अध्यापकों को संबोधित करते हुए कहा कि सभी स्कूलों को कक्षा प्रबंधन को उपयोगी बनाना चाहिए तथा कक्षा का रचनात्मक शिक्षण करके अपने शिक्षण को और भी उपयोगी बनाएं, ताकि बच्चों की पढ़ाई में रुचि बनी रहें। इसके साथ-साथ शिक्षकों को भी नए-नए विचारों को अपने मन मंे लाना चाहिए क्योंकि नए विचारों से ही शिक्षण को उपयोगी और रचनात्मक बनाया जा सकता है। इस अवसर पर चिन्मय विद्यालय के प्रधानाचार्य शुभोजीत घोष ने मुख्यातिथि व अन्य सभी अतिथियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि इस प्रकार की बैठक का मुख्य उद्देश्य स्कूलों के लिए एक इकोसिस्टम तैयार करना, ताकि वे प्रभावी तौर पर सर्वांगीण विकास कर सकें। यह सहयोग न केवल बढि़या गतिविधियों को बढ़ावा देगा, वहीं टीचर्स और स्टूडेंट्स का भी दायरा बढ़ाएगा।

You might also like