पंचायतों में खत्म हो ठेकेदारी प्रथा

चुवाडी -प्रधान संघ भटियात प्रधान संघ की बैठक का आयोजन उपमंडल मुख्यालय में किया गया। बैठक के दौरान संघ ने सर्वसम्मति से यह फैसला किया कि प्रदेश मंत्रिमंडल की ओर से छह मार्च 2019 को प्रस्ताव पारित कर विभाग को लागू करने के लिए भेजा, के खिलाफ वे अपनी सहमति जताते हैं। प्रधान संघ का मानना है कि 73वें संशोधन के अंतर्गत दी गई शक्तियां, जोकि पंचायतों को ज्यादा स्वायतता देने की बात करती है। हम सरकार से उम्मीद करते हैं कि आप पंचायतों को पहले की भांति काम दिया जाए। संघ का मानना है कि पंचायती राज विभाग को प्रजातांत्रिक विकेंद्रीकरण के स्वरूप को मजबूत करने की और अग्रसर होगा। प्रधान संघ का यह भी मानना है कि पंचायतों में पहले की तरह विधायक विकास निधि सांसद विधायक निधि और अन्य मदों को पहले की तरह पंचायतों को दिया जाए। संघ का यह भी मानना है कि पंचायत पदाधिकारियों के मानदेय में बढ़ोतरी की जाए, जोकि नाममात्र है। प्रधान संघ का यह भी सुझाव है कि हर पंचायत में एक तकनीकी सहायक और एक ग्राम रोजगार सेवक होना चाहिए, जबकि कनिष्ठ अभियंता के पास 5 से ज्यादा पंचायत नहीं होनी चाहिए। ताकि पंचायत का काम सुचारू रूप से और समय पर हो जाए। प्रधान संघ भट्टियात सरकार से यह मांग करता है कि पंचायतों में ठेकेदारी प्रथा को खत्म करे। और पंचायत के विकास के लिए पंचायत प्रतिनिधियों को विश्वास में लाकर ग्राम पंचायत को शुद्धिकरण करने की बात करें। बाद में संघ ने अपनी मांगों को एसडीएम भटियात को ज्ञापन भी सौंपा

 

 

 

You might also like