पर्यटनः सोलन ने पछाड़े शिमला-कसौली

सोलन—बाहरी राज्यों से सैलानियों व स्थायी रूप से आशियाना ढूंढने वाले लोगों के लिए सोलन एक पंसदीदा शहर बनता जा रहा है। बीते कुछ वर्षों में सोलन की रमणीक वादियों व स्वच्छंद वातावरण ने पर्यटकों को बहुत आकर्षित किया है। आलम यह है कि हिमाचल के शिमला व कसौली पर्यटक स्थलों को सोलन अब तेेजी से पछाड़ता नजर आ रहा है। सोलन के समीप सलोगड़ा में हरठ स्थान अब विश्वव्यापी पर्यटक स्थल बन चुका है। इसके अतिरिक्त जटोली में दक्षिण भारत की कलात्मक शैली की तरह से निर्मित शिव मंदिर पूरे देशवासियों की प्रगाढ़ श्रद्धा का केंद्र बिंदू बन गया है। प्रतिदिन हजारों की संख्या में पर्यटक यहां की खूबसूरत वादियों का आनंद लेने पहुंचते हैं। सोलन में बीते कुछ वर्षों में कलोनियां व लैट संस्कृति बहुत तेजी से विकसित हुई है। प्रदेश के साथ-साथ बाहरी राज्यों के हजारों लोगों ने सोलन को अपना दूसरा घर बनाना शुरू कर दिया है। आलम यह है कि लैट संस्कृति के बढ़ते रुझान को देखते हुए कई नामी कंपनियों व बिल्डरों ने सोलन व आसपास के इलाके में निर्माण कार्यों में व्यापक तेजी ला दी है। सोलन में पर्यटकों की बढ़ती आमद व स्थायी रूप से यहां बसने वालों की सोच यह है कि यहां घूमने वालों के लिए बहुत सारे रमणीक व पर्यटक स्थल है जबकि कसौली में मात्र इक्का-दुक्का ऐसे स्थल है जिन्हें निहारा जा सकता है। भोपाल से आए एक पर्यटक जोधावर सिंह ने कहा कि अब शिमला में भी भीड़ बहुत हो गई है, पर्यावरण भी प्रदुषित हो गया है तथा पार्किंग सुविधा न होने के कारण पयंटक बहुत परेशान हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह बीते तीन दिन से सोलन में हैं तथा जटोली मंदिर, हरठ, काली का टिब्बा, नौणी विश्वविद्यालय व अन्य कई स्थानों पर जा चुके हैं। इसके अतिरिक्त सोलन में चिकित्सीय सुविधाएं, अन्य पर्यटक स्थलों की अपेक्षा अधिक पार्किंग स्थान, एक जैसा सुहावना तापमान, खरीदारी करने के लिए बड़ा बाजार व शैक्षणिक हब जैसी अनेक सुविधाएं हैं जो कि को अन्य पर्यटक स्थलों से भिन्न करती है।

सुर्खियां

 बाहरा विवि के छात्र ने बनाया मिनी

ड्राप्टर एनहांसर

 पूर्व प्रधानमंत्री को

दी श्रद्धांजलि

  दाड़लाघाट में जहरीला पदार्थ निगलने से महिला की मौत

 दोहरी दिवार के पास तीन युवकों से पकड़ा चिट्टा

  कोताही पर पोलिंग पार्टियां सस्पेंड

 नगाली के पास भिड़ी कारें, एक चालक जख्मी

  खोखे हटाने आई टीम बस्रंग लौटी

  30 तक बंद रहेगा बड़ोग बाइपास

 स्कूटी सवार से पकड़ा 3.45 ग्राम चिट्टा

वोल्वो बसों की समयसारिणी

   सुबह                          रात्रि

  9:15                         9:15

  9:45                       10:00

  11:15                       10:30

  12:13                       11:30

रेलवे की समयसारिणी

कालका से शिमला

हिमालयन क्वीन 12:10, पैसेंजर 4:00, रेल मोटर 5:10, शिवालिक डीलक्स 5:30, एक्सप्रेस 6:00, कालका-शिमला स्पेशल 7:00

शिमला से कालका

हिमालयन क्वीन 10ः30, पैसेंजर 2ः25, रेल मोटर 4ः25, शिवालिक डीलक्स 5ः40, एक्सप्रेस 6ः25, कालका-शिमला स्पेशल 3ः50

बलदेव ठाकुर की मेहनत से नौणी पंचायत बनी मिसाल

स्वच्छता को लेकर प्रदेश भर में मशहूर हो चुकी निर्मल ग्राम पंचायत नौणी प्रदेश की अन्य पंचायतों के लिए मिसाल है। इसे पिछे निर्मल ग्राम पंचायत नौणी के प्रधान बलदेव ठाकुर के अथक प्रयास एवं उनकी कार्य कुशलता है। उनकी दुर्गामी सोच  के चलते आज नौणी पंचायत सुविधा संपन्न है। इसके अलावा पंचायत को स्वच्छता एवं विकासात्मक कार्योंं के लिए कई निजी व सरकारी संस्थाओं द्वारा सम्मानित किया जा चुका है। अपनी ईमानदारी व लगन से नौणी के प्रधान बलदेव ठाकुर ने यह साबित कर दिया है कि यदि किसी कार्य को करने की ठान लें तो उसे अवश्य पूरा किया जा सकता है। उन्होंने पंचायत की सड़कें, आगनबाड़ी, पार्किंग सहित अन्य कल्याणकारी कार्य कर नौणी पंचायत को शहर में विकसित की राह पर हैं।

हाय रे मौसम…

हाय रे मौसम… अब हर व्यक्ति की जुंबा से यही शब्द निकलने लगे है। गर्मी के मौसम में भी लोग गर्म कपड़े पहनने को मजबूर है। हो भी क्यों न। मौसम बार-बार करवट जो ले रहा है। तापमान में भी उतार-चढ़ाव जारी है। कभी पांच डिग्री ऊपर तो कभी झट से पांच डिग्री नीचे। इस कारण लोग अस्पताल में दस्तक देने लगे हैं। गौर रहे कि बीते सप्ताह मौसम में भारी परिवर्तन देखा गया। एक दिन बारिश तो दूसरे तेज प्रचंड गर्मी ने लोगों को न तो इधर का छोड़ा न उधर का। आलम यह है कि मौसम लोगों के लिए मुसीबत बना हुआ है।

You might also like