पशु पालन विभाग की टीम पहुंची धार चांदना

नेरवा—‘दिव्य हिमाचल’ के 14 मई मंगलवार के अंक में ‘धार चांदना में बुजुर्ग को रैबीज’ शीर्षक से छपी खबर पर संज्ञान लेते हुए पशुपालन विभाग ने हरकत में आते हुए चिकित्सकों के एक दल ने धार चांदना के प्रभावित विभिन्न गांव का दौरा कर पागल कुत्तों के प्रभाव में आये कुत्तों को एंटी रैबीज वैक्सीन इंजेक्शन लगाए। धार चांदना पंचायत के उप प्रधान नाग चंद ने बताया कि पशु चिकित्सा अधिकारी कुपवी डा. विश्वजीत एवं पशु चिकित्सा अधिकारी पौडि़या डा. वरुण के संयुक्त नेतृत्व में पशु चिकित्सा दल ने ग्राम पंचायत धार चांदना पंहुच कर पागल कुत्तों के प्रभाव में आये 18 पालतू व सात आवारा कुत्तों को एंटी रैबीज वैक्सीन इंजेक्शन लगाए। एक पालतू कुत्ते को बुधवार को पागल कुत्ते ने काट लिया था उसे भी यह इंजेक्शन दिया गया। गौर रहे कि धार चांदना में कुत्तों के आतंक की खबर को दिव्य हिमाचल ने प्रमुख रूप से उठाया था। खबर में धार चांदना में एक बुजुर्ग को रैबीज होने का भी जिक्र किया गया था जिस पर एसडीएम चौपाल ने कड़ा संज्ञान लेते हुए पशुपालन व स्वास्थ्य विभाग को तुरंत आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश देते हुए पूरी रिपोर्ट तलब की थी। बहरहाल, पशुपालन विभाग ने तुरंत हरकत में आते हुए ग्रामीणों को एक बड़ी राहत दी है। पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. विश्वजीत ने बताया कि पागल कुत्तों के संपर्क में आए पालतू व आवारा सभी कुत्तों को एंटी रैबीज वैक्सीन इंजेक्शन लगा दिए गए हैं व वैक्सीन की और डिमांड भेज कर धार चांदना में तैनात कर्मचारी को इसके तय शेड्यूल के आधार पर इंजेक्शन लगाने के निर्देश दे दिए गए हैं। अन्य पालतू पशुओं को ग्रामीण शेड्यूल के आधार पर यह इंजेक्शन लगवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि धार चांदना में स्थिति अब नियंत्रण में है। डॉ. वरुण ने पागल कुत्तों के काटे जाने पर बरती जाने वाली सावधानियों की जानकारी देते हुए लोगों को बताया कि सबसे पहले जख्म को पानी से अच्छी तरह धो लें व उसके बाद 24 घंटे के भीतर टिटनस व एंटी रैबीज इंजेक्शन लगवा लें। विभाग की टीम में पशुपालन सहायक मान सिंह, फार्मासिस्ट अनिल कुमार व राजेंद्र सिंह भी शामिल रहे।

You might also like