पहली को मंत्रिमंडल की बैठक

रुकी योजनाओं के साथ नई इंडस्ट्रियल पालिसी पर भी लगेगी मुहर

शिमला —लोकसभा चुनाव निपटने के बाद जयराम ठाकुर सरकार की पहली कैबिनेट पहली जून को रखी गई है। सुबह 11 बजे सचिवालय में होने वाली बैठक काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि इसमें उन योजनाओं पर फैसले होंगे, जो कि चुनाव के चलते रुकी हुई थीं। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बजट में जो घोषणाएं की थीं, उनमें से अधिकांश पर अभी तक कैबिनेट की मुहर नहीं लग पाई थी। कुछ योजनाएं ऐसी थीं, जिन पर फैसले तो हो गए, लेकिन अधिसूचना जारी नहीं हो सकी, क्योंकि तब आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई थी। बैठक में इन सभी प्रस्तावों को लाया जाएगा और उन योजनाओं का खाका रखा जाएगा, जिन पर अभी तक निर्णय नहीं हो सके थे। विभागों में आया ठहराव खत्म होगा। सूत्रों के अनुसार सभी विभागों से कैबिनेट मंजूरी के लिए  प्रस्ताव मांगे गए हैं, जिनको मंगलवार को सरकार की ओर से पत्र भेज दिए गए हैं। सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी सचिवों, विभागाध्यक्षों को पत्र भेजे हैं, जिसमें कहा गया है कि वह अपने कैबिनेट मैमो मुख्य सचिव कार्यालय को भिजवाएं। सभी मंत्रियों को भी इस संबंध में सूचित कर दिया गया है।  अभी भी सचिवालय में सरकार के सभी मंत्री नहीं पहुंचे हैं। मुख्यमंत्री दिल्ली में हैं, जिनका 31 मई को लौटने का कार्यक्रम है। उनके यहां आते ही पहली जून को मंत्रिमंडल की बैठक रख दी गई है, जिसमें सभी को पहुंचने के लिए कहा गया है। बैठक में अन्य विभागों के महत्त्वपूर्ण मामलों से अलग नई इंडस्ट्रियल पालिसी भी लाई जाएगी। वित्त विभाग ने इसे मंजूरी दे दी है।

मोदी को बधाई का प्रस्ताव

मंत्रिमंडल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जीत पर बधाई का प्रस्ताव भी भेजा जाएगा। मंत्रिमंडल की ओर से केंद्र सरकार को औपचारिक रूप से बधाई दी जाएगी।

कपूर, अनिल नहीं आएंगे

कैबिनेट बैठक में किशन कपूर व अनिल शर्मा नहीं होंगे। ऊर्जा मंत्री के पद से अनिल शर्मा ने इस्तीफा दे दिया था, जिसे स्वीकार भी कर लिया गया है, वहीं किशन कपूर भी अब सांसद बन चुके हैं।

 

 

You might also like