पहली से रोहतांग की सैर करेंगे सैलानी

उपायुक्त कुल्लू ने दी दर्रे पर वाहनों की आवाजाही की इजाजत

मनाली – देश-विदेशों से कुल्लू- मनाली आने वाले हजारों पर्यटकों के लिए यह अच्छी खबर है। अब वे बर्फीली चादर ओढे़ विश्व प्रसिद्ध रोहतांग दर्रे का दीदार कर सकेंगे। कुल्लू के उपायुक्त यूनुस ने रोहतांग दर्रे को पर्यटकों के लिए खोलने की अनुमति प्रदान कर दी है। अब पहली जून से पर्यटक वाहन रोहतांग तक जा सकेंगे। उन्होंने ने कहा कि एनजीटी के नियमों की पालना करते हुए रोहतांग दर्रे के लिए प्रतिदिन 1300 वाहनों को ही अनुमति प्रदान की जा सकती है। इसके लिए उन्हें ऑन लाईन परमिट प्राप्त करने की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। उन्होंने रोहतांग जाने के इच्छुक पर्यटकों व अन्य लोगों से ऑनलाइन परमिट प्राप्त करने को कहा है, ताकि उन्हें किसी प्रकार की असुविधा न हो। गौरतलब है कि रोहतांग दर्रा भारी बर्फबारी के चलते दिसंबर में यातायात के लिए बंद हो गया था। इसे हाल ही में 19 मई को बहाल किया गया और अब पहली जून से इसे पर्यटकों के लिए भी खोल दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों, सैलानियों, टैक्सी व होटल यूनियनों से हर रोज रोहतांग पर वाहनों की आवाजाही की अनुमति के लिए आग्रह पर रोहतांग दर्रे तथा सड़क के दोनों ओर बर्फ की मोटी परत को हटवाकर पार्किंग की व्यवस्था की गई है। इसके लिए सीमा सड़क संगठन ने युद्धस्तर पर कार्य किया है। उपायुक्त ने सैलानियों व स्थानीय लोगों से यह भी अपील की है कि वे रोहतांग तथा इसके आसपास कहीं पर भी कचरा न फैलाएं। इस संबंध में सभी होटलियर्ज व टैक्सी मालिकों को पहले ही विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि टैक्सी चालकों को बैग निःशुल्क उपलब्ध करवाए जा रहे हैं और यह चालक की ड्यूटी है कि वह प्लास्टिक रैपर अथवा किसी भी प्रकार का कचरा बैग में डाले और बाद में निर्देशानुसार इसका निष्पादन करे।

You might also like