पहाड़ी लहसुन की खुशबू से महका बाजार

सोलन —पहाड़ी लहसुन का जादू इस सीजन सिर चढ़कर बोल रहा है। सीजन के शुरुआती दिनों में ही लहसुन ने किसानों को मालामाल कर दिया है। जानकारी के अनुसार इन दिनों फल एवं सब्जी मंडी सोलन में लहसुन 35 रुपए से 80 रुपए तक बिक रहा है। इसका कारण यह है कि बाहरी राज्यों से औषधीय गुणों से भरपूर लहसुन की डिमांड काफी अधिक आ रही है। वर्ष 2018 की बात करें तो किसानों को अधिकतम 48 रुपए प्रतिकिलो तक लहसुन के दाम मिले थे, लेकिन इस बाद लहसुन ने किसानों की मौज लगा दी है और सीजन के पहले दिन से ही लहसुन का खूब तड़का लग रहा है। इस सीजन फल एवं सब्जी मंडी सोलन में अब तक छह हजार 879 क्विंटल लहसुन पहुंच चुका है। जैसे-जैसे लहसुन सीजन आगे बढ़ रहा है, उसी तर्ज पर भाव में अच्छे मिल रहे है। हालांकि सीजन के शुरुआत में किसानों को अधिकतम 35 से 40 रुपए प्रतिकिलो के हिसाब से दाम मिल रहे थे, अब इसके दाम में भी इजाफा हो रहा है।

साइज अच्छा होने के कारण दाम भी अच्छे

बीते वर्षों के मुकाबले इस बार लहसुन को साइज काफी अच्छा है। इसके पीछे कारण यह बताया जा रहा है कि इस बार बारिश अच्छी हुई। इस कारण लहसुन का साइज भी काफी अच्छा है। उधर, मंडी में बाहरी राज्यों के लिए स्पेशल डिमांड पर 10-10 किलो की पैकिंग तैयार की जा रही है।

चीनी लहसुन दिखा सकता है आंखें

हिमाचली लहसुन को एकमात्र खतरा चाइना के लहसुन से है। बताया जा रहा है कि चीन के लहसुन की खेप भी मार्केट में पहुंचने वाली है। देखने में साफ-सुथरा होने के कारण उसके आगे पहाड़ी लहसुन की महक फीकी पड़ जाती है। ऐसे में भाव गिरने की भी प्रबल संभावना रहती है।

हिमाचली लहसुन पर दुनिया की नजरें

बीते कुछ वर्षों से पहाड़ी लहसुन ने पूरी दूनिया में अपना डंका बजाया है। देश के बाहर भी हिमाचली लहसुन का खूब तड़का लगा है। कई विदेशी प्रयोगशालाओं ने भी यहां के लहसुन को अन्य देशों से अधिक औषधीय बताया है। यही कारण है कि इस समय हिमाचली लहसुन की पैदावार पर दुनियां की नजरें टिकी हुई है।

You might also like