पांवटा में आग उगल रहा सूरज, पारा 42 डिग्री

पांवटा साहिब—पिछले तीन दिनों से पांवटा दून उबलने लगा है। मानों सूरज आग उगल रहा हो। दिनोंदिन लगातार बढ़ रहे तापमान के कारण पांवटा की जनता का जीना मुश्किल हो गया है। पांवटा की गर्मी अपने रंग मंे आ गई है। पिछले तीन दिनों से पांवटा दून का तापमान 40-41 डिग्री से नीचे आने का नाम नहीं ले रहा है, जिससे अब दिन के समय लू चलने लगी है। बीते सोमवार को तो पांवटा का तापमान 41 डिग्री दर्ज किया गया। इससे पूर्व रविवार को भी पांवटा का तापमान 40 डिग्री दर्ज किया गया। मंगलवार को तो हद ही हो गई। सुबह नौ बजे ही तापमान 37 डिग्री पहुंच गया था। दिन के समय इसमें पांच डिग्री का उछाल आया और तापमान 42 डिग्री पर पहुंच गया। मौसम विभाग की मानें तो आने वाले तीन-चार दिनों तक राहत के कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं। जानकारों का मानना है कि जिस प्रकार दिन प्रतिदिन पांवटा मंे गर्मी बढ़ती जा रही है उससे चिंता सताने लगी है कि लोग लू का शिकार हो सकते हैं। जानकारी के मुताबिक पांवटा साहिब में गर्मी ने अपना प्रचंड रूप दिखाना शुरू कर दिया है। गर्मी से जहां लोग बेहाल हैं, वहीं बिजली का लोड अधिक होने पर बार-बार कट भी लग रहे हैं जिससे घुटन का आलम हो जाता है। भारी गर्मी के चलते नदियों के जल स्तर मंे कमी देखने को मिली है जिससे यहां का भू-जल स्तर भी काफी नीचे पहुंच चुका है। पांवटा के लोग आजकल गर्मी से निजात पाने के लिए यमुना, बाता व गिरि नदी मंे जाकर स्नान कर अपने आपको ठंडा करते दिखाई दे रहे हैं। इस बढ़ती गर्मी ने हालांकि ठंडे पेयजल पदार्थों का व्यवसाय करने वालों के व्यवसाय में इजाफा कर दिया है। लोग कोल्ड ड्रिंक्स, गन्ने का रस व फलों के जूस को पीते आम देखे जा सकते हैं। इस गर्मी की बड़ी मार मध्यम व गरीब वर्ग के लोगों पर पड़ रही है जो कूलर व एसी जैसी सुविधाएं जुटाने में नाकाम होते हैं। मंगलवार को भी सूर्यदेव ने अपना गर्म मिजाज जारी रखा और ऐसा लग रहा था मानों सूर्य देवत अपने ही पिछले रिकार्ड को तोड़ने की कोशिश कर रहे हो। भयंकर गर्मी के कारण स्कूलों में बच्चे डि-हाइड्रेशन का शिकार हो रहे हैं। यही नहीं छोटे-छोटे बच्चे इस गर्मी के कारण ज्यादा दिक्कतों में हैं। अभिभावक काफी चिंतित हैं और स्कूलों से कुछ दिनों की छुट्टी करने की मांग कर रहे हैं। बहरहाल पांवटा में प्रचंड गर्मी से जनता परेशानी में है।

You might also like