पाकिस्तान के ऐतिहासिक गुरुनानक महल में तोड़फोड़, बेच दिए खिड़कियां-दरवाजे

लाहौर। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में कुछ स्थानीय लोगों ने औकाफ विभाग के अधिकारियों की कथित मौन सहमति से सदियों पुराने गुरुनानक महल का एक बड़ा हिस्सा तोड़ दिया। उसकी कीमती खिड़कियां एवं दरवाजे बेच दिए। रिपोर्ट के अनुसार इस चार मंजिला इमारत की दीवारों पर सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के अलावा हिंदू शासकों और राजकुमारों की तस्वीरें थीं। रिपोर्ट के अनुसार ऐसा बताया जाता है कि बाबा गुरुनानक महल चार सदी पहले बनाया गया था और इसमें भारत समेत दुनियाभर से सिख आया करते हैं। इसमें बताया गया है कि प्रांतीय राजधानी लाहौर से करीब 100 किलोमीटर दूर नारोवाल शहर में बने इस महल में 16 कमरे थे और हर कमरे में कम से कम तीन नाजुक दरवाजे और कम से कम चार रोशनदान थे। औकाफ विभाग के अधिकारियों की कथित मौन सहमति से स्थानीय लोगों के एक समूह ने महल को आंशिक रूप से ध्वस्त कर दिया और उसकी कीमती खिड़कियां, दरवाजे और रोशनदान भी बेच दिए। अधिकारियों को इस महल के मालिक के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

You might also like