पीएनबी को 4750 करोड़ का घाटा

नई दिल्ली  – सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को वित्त वर्ष 2018-19 की अंतिम तिमाही में 4750 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष में बैंक को 13417 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था। बैंक ने मंगलवार को यहां निदेशक मंडल की बैठक के बाद जारी वित्तीय परिणाम में कहा कि वित्त वर्ष 2017-18 की अंतिम तिमाही में 12970 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया था जबकि इस वर्ष मार्च में समाप्त तिमाही में 7611 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया। प्रावधानों में कमी किये जाने के साथ ही परिचालन लाभ में बढोतरी हुयी है। मार्च 2018 में समाप्त तिमाही में बैंक को परिचालन में 447 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था जबकि इस वर्ष मार्च में समाप्त इस तिमाही में उसे 2861 करोड़ रुपये का परिचालन लाभ हुआ है। उसने कहा कि वर्ष 2018-19 की अंतिम तिमाही में उसकी शुद्ध ब्याज आय 4200 करोड़ रुपये रही जबकि पिछले वर्ष मार्च में समाप्त इसी तिमाही में यह राशि 3063 करोड़ रुपये रही थी। बैंक ने कहा कि वर्ष 2018-19 में उसको 9975 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष में यह राशि 12283 करोड़ रुपये रही थी। पूरे वित्त वर्ष में बैंक ने कुल मिलाकर 22971 करोड़ रुपये का प्रावधान किया जो वर्ष 2017-18 में किये गये 22577 करोड़ रुपये के प्रावधान की तुलना में 1.7 प्रतिशत अधिक है। इस वर्ष मार्च में समाप्त वित्त वर्ष में उसकी शुद्ध ब्याज आय 17156 करोड़ रुपये रही जो वित्त वर्श 2017-18 की 14922 करोड़ रुपये की शुद्ध आय की तुलना में 15 प्रतिशत अधिक है। उसने कहा कि इस वर्ष मार्च में सकल गैर निष्पादित परिसंपत्तिया (एनपीए) 15.50 प्रतिशत पर आ गया जबकि मार्च 2018 में यह 18.38 प्रतिशत पर रहा था। इसी तरह से शुद्ध एनपीए 6.56 प्रतिशत पर रहा जबकि पिछले वर्ष यह 11.24 प्रतिशत रहा था।

You might also like