पीएम मोदी की ताजपोशी आज

कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ छह हजार मेहमान शपथ ग्रहण समारोह में होंगे शामिल

नई दिल्ली – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गुरुवार शाम सात बजे होने वाली ताजपोशी के लिए राष्ट्रपति भवन में भव्य इंतजाम किए गए हैं। शपथग्रहण समारोह में अनेक अंतरराष्ट्रीय नेता, बिम्स्टेक देशों के राष्ट्राध्यक्ष, क्षेत्रीय छत्रप सहित तमाम नामचीन हस्तियां भाग लेंगी। पीएम मोदी के साथ उनका मंत्रिमंडल भी शपथ लेगा। शपथ ग्रहण समारोह राष्ट्रपति भवन के बाहरी प्रांगण में होगा। मुख्य द्वार और मुख्य भवन के बीच एक भव्य रास्ता बनाया जाएगा, जिसका इस्तेमाल राज्य के प्रमुखों और देशों के शासनाध्यक्षों के औपचारिक स्वागत के लिए किया जाएगा। यह चौथा मौका होगा, जब प्रधानमंत्री पद की शपथ दरबार हॉल की जगह राष्ट्रपति भवन के बाहरी प्रांगण में होगी। दरबार हॉल में महज 500 लोगों का समारोह ही संभव है। सबसे पहले चंद्रशेखर ने 1990 में बाहरी प्रांगण में प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी, इसके बाद अटल बिहारी वाजपेयी ने 1998 में और इसके बाद 2014 में नरेंद्र मोदी ने बाहरी परिसर में शपथ ग्रहण की थी। 2014 में पीएम मोदी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में सार्क देशों के प्रमुखों के अलावा करीब 4000 मेहमानों ने हिस्सा लिया था। यह समारोह भी लगभग 2014 के कार्यक्रम जैसा ही होगा। इस बार समारोह में 14 देशों के प्रमुख, कई देशों के राजदूत, बुद्धिजीवी, राजनीतिक एक्टिविस्ट्स, फिल्म स्टार और सिलेब्रिटी को बुलाया गया है। जानकारों की मानें तो इस कार्यक्रम में क्षेत्रीय और राष्ट्रीय पार्टियों के प्रमुखों के अलावा कई वरिष्ठ राजनेताओं सहित करीब छह हजार लोग शामिल होंगे। गुरुवार शाम सात बजे के समारोह के बाद अतिथियों के लिए हल्के रात्रिभोज की व्यवस्था भी की गई है। डिनर में वेज और नॉनवेज दोनों की व्यवस्था की गई है। राष्ट्रपति भवन के रसोईघर को निर्देश दिया गया है कि अतिथियों में कई लोग भारत के पूर्वी इलाके से भी हैं, जहां रात्रिभोज को काफी हल्का रखा जाता है। डिनर मेन्यु में दाल रायसीना को भी जगह दी गई है, जिसे पकाने की तैयारी शुरू हो चुकी है। गुरुवार रात के भोज के लिए राष्ट्रपति भवन ने 48 घंटे पूर्व ही तैयारियां शुरू कर दी थीं।

शपथ समारोह में शामिल होंगे सोनिया-राहुल गांधी

नई दिल्ली – लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस के भीतर जारी नेतृत्व संकट के बीच पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद भी राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचेंगे। कांग्रेस के इस फैसले से साफ है कि पार्टी पीएम के शपथ ग्रहण से दूरी बनाकर कोई गलत संदेश देना नहीं चाहती है।

प्रधानमंत्री के साथ 40 मंत्री ले सकते हैं शपथ

नई दिल्ली – गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी के साथ 40 मंत्री शपथ ले सकते हैं। भाजपा सूत्रों के अनुसार इनमें से 40 फीसदी नए चेहरे शामिल होंगे। नए मंत्रिमंडल में कई दिग्गज और मौजूदा मंत्रियों को दोबारा मौका न देकर नए चेहरों को तरजीह दी जाएगी। हालांकि, लोजपा से रामविलास पासवान और भाजपा के कुछ वरिष्ठ नेता मंत्री बने रह सकते हैं। सहयोगी दलों में शिवसेना और जदयू के दो-दो मंत्री बनाए जा सकते हैं। इनमें एक कैबिनेट और एक राज्य मंत्री दर्जा होने की संभावना है। इस बार देश को नया वित्त, रक्षा और विदेश मंत्री मिल सकता है। भाजपा अध्यक्ष शाह को मोदी सरकार में बड़ा पद मिल सकता है। जेटली कोई मंत्रालय लेने से पहले ही इनकार कर चुके हैं।

You might also like