पीले रंग का मेरा छाता

कविता

पीले रंग का मेरा छाता,

यह वर्षा से मुझे बचाता।

कड़ी धूप या रिमझिम पानी,

दोनों में है साथ निभाता।

 पीले छाते की है साथी,

मेरी यह काली बरसाती।

खुद पानी से तर हो जाती,

लेकिन मुझको सदा बचाती।

इनके साथ मजा जीने का,

बारिश की बूंदें पीने का।

अच्छा लगता मुझको भाता,

पीले रंग का मेरा छाता।

You might also like