पोस्ट बैंक से जल्द जुड़ेंगी ग्रामीण शाखाएं

माइक्रो एंटीना से पूरा होगा काम, डाक विभाग का बीएसएनएल से करार

शिमला   – प्रदेश डाक विभाग द्वारा शेष रहती छह फीसदी ग्रामीण शाखाएं शीघ्र इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक से जोड़ी जाएंगी। इन शाखाओं को पोस्ट बैंक से जोड़ने के लिए माइक्रो एंटीना स्थापित कर ग्रामीण जनता को घरद्वार बैंक की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके लिए डाक विभाग का बीएसएनएल से करार हो गया है। अब जल्द ही शेष रहती छह प्रतिशत ग्रामीण शाखाएं पेमेंट बैंक से जोड़ दी जाएंगी। इसके लिए डाक विभाग ने कार्य आरभ कर दिया है। उल्लेखनीय है कि  राज्य में डाक विभाग ने 94 फीसदी ग्रामीण डाक शाखाएं इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक से जुड़ गई हैं। 94 फीसदी शाखाओं को हाईटेक करने में देश भर में दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के बाद हिमाचल चौथे स्थान पर रहा है, जबकि हिमाचल की छह फीसदी शाखाएं ही अब इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक से जुड़नी शेष रहती हैं। ये शाखाएं क्षेत्र नॉन फिजिबिलिटी एरिया के तहत हैं, जहां सर्दियों में काम नहीं किया जा सकता था। कनेक्टिविटी के कारण ये क्षेत्र प्रभावित चल रहे हैं। अब डाक विभाग ने इन शाखाओं को पोस्ट पेमेंट बैंक से जोड़ने के लिए माइक्रो एंटीना स्थापित करने का निर्णय लिया है, जो कार्य विभाग द्वारा बीएसएनएल से करवाया जा रहा है। रिजर्व बैंक के निर्देशों पर 31 दिसंबर तक डाक विभाग को सभी डाकघरों को इंडिया पोस्ट पेमेंट से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया था, जिसमें डाक परिमंडल ने सफलता हासिल की थी। प्रदेश की 94 फीसदी ग्रामीण शाखाएं पूरी तरह से हाईटेक हो गई हैं। अन्य का कार्य भी जल्द  शुरू हो जाएगा। इसके बाद चिट्ठी-पत्री भेजने व बचती योजनाओं तक सीमित प्रदेश के डाकघर अब इंडिया पोस्ट पेमेंट अब बैंक के रूप में कार्य करेंगे। अब विभाग ने शेष रहती ग्रामीण  शाखाओं को भी इडिया पोस्ट बैक से जोड़ने की कवायत शुरू कर दी  है। इसके लिए सभी औैपचारिकताएं पूरी कर दी गई है। विभाग ने इसके लिए  बीएसएनएल से एस्टिमेट मांगा है। इसके पश्चात कार्र्य आरंभ कर दिया जाएगा। हाईटेक सुविधा मुहैया करवाने के बाद भारतीय डाक विभाग अब बैंकों से भी प्रतिस्पर्धा कर सकेगा। निजी बैंकों की तर्ज पर ग्राहकों के लिए नई योजना भी जल्द लांच हो सकती है। वर्तमान में प्रदेश में 2378 ग्रामीण डाक शाखाएं हैं, 447 सब पोस्ट ऑफिस और 18 मुख्य डाकघर हैं।

You might also like